खरीदने से पहले जान लें नई Mahindra Scorpio Classic की 3 बड़ी कमियां, आ सकता है गुस्सा!

27 जून को महिंद्रा ने अपनी नई स्कॉर्पियो-एन लॉन्च की और उसके करीब डेढ़ महीने बाद पुरानी वाली स्कॉर्पियो का नया वर्जन पेश किया. इसे नाम दिया गया- महिंद्रा स्कार्पियो क्लासिक. महिंद्र ने पहले ही यह फैसला कर लिया था कि वह स्कॉर्पियो-एन को बेचने के साथ-साथ पुरानी वाली स्कॉर्पियो को भी बेचती रहेगी क्योंकि कंपनी को पता है कि स्कॉर्पियो नाम एक बहुत बड़ा ब्रांड बन चुका है और इसकी खुद की एक ब्रांड वैल्यू है. ऐसे में कंपनी ने पुरानी स्कॉर्पियो को नए अंदाज में पेश किया. लेकिन, कई ऐसे फीचर्स इसमें छोड़ दिए गए, जो अगर होते तो ग्राहकों को ज्यादा आकर्षित करते.

1- 4-Wheel Drive System नहीं

नई महिंद्रा स्कार्पियो क्लासिक में फोर-व्हील ड्राइव सिस्टम ही छोड़ दिया गया है जबकि पुरानी स्कॉर्पियो में फोर-व्हील ड्राइव सिस्टम मिलता था, जो इसे ऑफरोडिंग के लिए ज्यादा कैपेबल बनाता था. ऑफ रोडिंग करने वाले लोगों के लिए फोर-व्हील ड्राइव काफी कारगर साबित होता है और स्कॉर्पियो को ऑफ रोडिंग की नजर से भी देखा जाता रहा है.

2- Automatic Transmission नहीं

नई महिंद्रा स्कार्पियो क्लासिक में ऑटोमेटिक ट्रांसमिशन भी नहीं मिलेगा जबकि पुरानी वाली महिंद्रा स्कार्पियो में ऑटोमेटिक ट्रांसमिशन आता था. लेकिन, कंपनी ने अब जब इसका अपडेट वर्जन लॉन्च किया है तो ऑटोमेटिक ट्रांसमिशन का ऑप्शन हटा दिया है. अब यह सिर्फ 6 स्पीड मैनुअल ट्रांसमिशन में ही उपलब्ध होगी.

3- Android Auto और Apple CarPlay नहीं

एंड्राइड ऑटो और एप्पल कारप्ले भी नई महिंद्रा स्कार्पियो में नहीं मिलेंगे. हालांकि, 9 इंच का टच स्क्रीन इन्फोटेनमेंट सिस्टम मिलेगा लेकिन यह एंड्राइड ऑटो और एप्पल कारप्ले को सपोर्ट नहीं करेगा.

इनके अलावा भी कई फीचर्स हैं, जिनकी कमी आपको नई महिंद्रा स्कार्पियो क्लासिक में महसूस हो सकती है, जैसे- ऑटो हेडलैंप का नहीं होना, रेन सेंसिंग वाइपर का नहीं होना, इंटरमिटेंट विंडस्क्रीन वाइपर कंट्रोलर नहीं मिलना या टायर प्रेशर मॉनिटरिंग सिस्टम का नहीं होना.