एशिया कप में सबसे बड़ा खतरा, इन 4 पाकिस्तानियों से सावधान रहे टीम इंडिया

एशिया कप में भारत-पाकिस्तान महामुकाबले के लिए महज 13 दिन बाकी हैं। इसे कोहली-बाबर राइवलरी के तौर पर देखा जा रहा है। 28 अगस्त को दुबई में होने वाले इस मुकाबले में टीम इंडिया पिछले साल टी-20 वर्ल्ड कप में मिली करारी हार का बदला लेने के इरादे से उतरेगी, लेकिन पाकिस्तान के कुछ खिलाड़ी ऐसे हैं जो भारतीय टीम के इरादों पर पानी फेर सकते हैं। तो आइए जानते हैं उन 4 पाकिस्तानी क्रिकेटर्स के बारे में जो अपने दम पर किसी भी मैच का रुख पलटने का माद्दा रखते हैं।

1. बाबर आजम

पाकिस्तान के कप्तान बाबर आजम अपने बल्ले से भारत के खिलाफ मैच में बड़ा अंतर पैदा कर सकते हैं। वे वर्तमान में टी-20 और वनडे क्रिकेट में दुनिया के नंबर-1 बल्लेबाज हैं। 2021 की बात करें तो बाबर ने 127.58 के स्ट्राइक रेट से 939 रन स्कोर किए हैं। उनके बल्ले से एक शतक और 9 अर्धशतक आए हैं।

वहीं, भारत के खिलाफ इस खिलाड़ी ने एकमात्र टी-20 मैच खेला है और इस मैच में उनके बल्ले से 68 रन की पारी निकली है। भारत के खिलाफ उनका स्ट्राइक रेट 130.76 का है। भारतीय गेंदबाजों को इस खिलाड़ी को जल्द से जल्द आउट कर पवेलियन भेजना होगा।

2. शाहीन अफरीदी

कप्तान बाबर आजम के बाद टीम इंडिया की दूसरी बड़ी चिंता शाहीन अफरीदी हैं। इस युवा गेंदबाज में नई गेंद से विकेट निकालने की काबिलियत है। वर्ल्ड कप 2021 में अफरीदी ने ओपनर केएल राहुल, रोहित शर्मा और विराट कोहली के विकेट चटकाते हुए टीम इंडिया के टॉप ऑर्डर को तहस-नहस कर दिया था।

22 साल के अफरीदी टेस्ट और वनडे रैंकिंग में दुनिया के दूसरे नंबर गेंदबाज हैं। हालांकि, टी-20 के टॉप-10 गेंदबाजों में उनका नाम नहीं है। बाएं हाथ के तेज गेंदबाजों के खिलाफ भारतीय बल्लेबाज पिछले कुछ सालों से लगातार संघर्ष करते नजर आए हैं। ऐसे में शाहीन से पार पाना भारतीय बल्लेबाजों के लिए मुश्किल हो सकता है।

3. मोहम्मद रिजवान

टी-20 फॉर्मेट में दुनिया के टॉप-3 बैटर में शामिल 30 साल के मोहम्मद रिजवान ने टी-20 वर्ल्ड कप में भारत के खिलाफ बाबर आजम के साथ मिलकर 152 रन की साझेदारी की थी। भुवनेश्वर कुमार, मोहम्मद शमी, जसप्रीत बुमराह और रवींद्र जडेजा जैसे शानदार गेंदबाज भी इस पार्टनरशिप को तोड़ नहीं पाए थे। दुबई के मैदान पर रिजवान ने 55 गेंदों पर 143.64 के स्ट्राइक रेट से नाबाद 79 रन बनाए थे।

रिजवान ने पिछले साल टी-20 क्रिकेट में 26 पारियों में 73.66 की औसत से 1326 रन बनाए थे और एक साल में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी बने थे। इतना ही नहीं रिजवान के पास पारी को संभालने और कभी भी रन गति में बदलाव करने की काबिलियत है जो उन्हें खतरनाक बना देती है।

4. फखर जमान

बाएं हाथ के बल्लेबाज फखर जमान भी भारत के लिए मुश्किलें पैदा कर सकते हैं। 5 साल पहले चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में भारत के खिलाफ फखर जमान ने सेंचुरी जमाई थी और पाकिस्तान के 338 रनों के स्कोर में बड़ा योगदान दिया था। इस मुकाबले में टीम इंडिया को हार का सामना करना पड़ा था।

32 साल के फखर ग्राउंडेड शॉट खेलने में भरोसा रखते हैं। पिछले साल उनके बल्ले से 415 रन आए हैं। इनमें तीन अर्धशतक शामिल हैं। पाकिस्तान के टॉप-3 खिलाड़ी दुनिया भर के गेंदबाजों के लिए खतरा माने जाते हैं। भारतीय गेंदबाजों को इन्हें जल्द आउट करना होगा।