एकसाथ टी-20 वर्ल्डकप खेली 5 भाइयों की जोड़ियां, देखें कौन-कौन?

एक ही परिवार के सदस्यों का एक ही खेल खेलना आम बात है। अगर हम क्रिकेट की बात करें तो हमने दो भाइयों की जोड़ी को कई बार खेलते हुए देखा हो लेकिन प्लेइंग इलेवन का वो दोनों हिस्सा हों, ऐसा कम ही देखा है। तो आज हम आपको ऐसे ही भाइयों की जोड़ी के बारे में बताएंगे, जिन्होंने आईसीसी टी 20 वर्ल्ड कप में खेला हो।

युसूफ पठान और इरफान पठान

पूर्व भारतीय ऑल राउंडर इरफान पठान और यूसुफ की जोड़ी एक साथ टी-20 वर्ल्ड कप में भारत को रिप्रेजेंट कर चुकी हैं।

दोनों भाई आईसीसी टी-20 वर्ल्ड कप के पहले एडिशन साल 2007 में खेले थे। यूसुफ पठान ने 2007 के फाइनल में पाकिस्तान के ख़िलाफ़ किया था लेकिन जब यूसुफ ने टीम इंडिया के लिए डेब्यू किया।

उस समय इरफान पठान भारतीय क्रिकेट में अपनी जगह पक्की कर चुके थे। इन दोनों भाइयों की जोड़ी साल में 2009 में हुए टी-20 वर्ल्ड कप में दिखाई दी थी।

नाथन मैकुलम और ब्रेंडन मैकुलम

न्यूजीलैंड के दिग्गज खिलाड़ी नाथन मैकुलम और ब्रेंडन मैकुलम दोनों भाई शानदार क्रिकेटर थे। मैकुलम भाइयों की यह जोड़ी 2007, 2009, 2010, 2012 और 2014 के वर्ल्ड कप में साथ खेल चुकी हैं।

2012 के टी-20 वर्ल्ड कप में ब्रेंडन मैकुलम ने बांग्लादेश के ख़िलाफ़ 58 गेंदों में 123 रन बनाए थे। जोकि इस टूर्नामेंट का हाईएस्ट स्कोर है अपनी इस पारी में उन्होंने 11 चौकें और 7 छक्के लगाए थे।

वहीं उनके भाई नाथन मैकुलम ने बेहतरीन गेंदबाज़ी करते हुए 4 ओवर के अपने स्पैल में 15 रन देकर 1 विकेट झटका था। न्यूज़ीलैंड ने वो मैच 59 रन से अपने नाम कर लिया था।

ड्वेन ब्रावो और डैरेन ब्रावो
दिग्गज खिलाड़ी ड्वेन ब्रावो और डैरेन ब्रावो भाइयों की जोड़ी भी टी 20 वर्ल्ड कप में एक साथ नज़र आ चुकी हैं। दोनों भाइयों साल 2012 के टी 20 वर्ल्ड कप में साथ में खेल चुके हैं।

डैरेन ब्रावो ने टी २० क्रिकेट में इतना नाम नहीं कमाया है। जितना उनके भाई ने इस फॉर्मेट में कमाया है। डैरेन ब्रावो को 2012 के टी 20 वर्ल्ड कप में सिर्फ़ एक ही मैच खेलने का मौका मिला था।

वहीं ड्वेन ब्रावो टी-20 क्रिकेट में सबसे अधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज़ है।

एल्बी मोर्कल और मोर्ने मोर्कल
मोर्ने मोर्कल और एल्बी मोर्कल भाइयों ने साल 2007, 2009, 2010, 2012 और 2014 में एक 20 वर्ल्ड कप खेला था। मोर्ने मोर्केल जहां वर्ल्ड कप में 24 विकेट लिए है।

वहीं उनके भाई एल्बी मोर्केल ने इस टूर्नामेंट में केवल 10 विकेट चटकाए है पर साथ ही साथ 308 रन भी बनाए है। दोनों भाइयों ने मौकों पर साउथ अफ्रीका के लिए बेहतरीन प्रदर्शन किया है।

माइकल हसी और डेविड हसी
दिग्गज ऑस्ट्रेलियाई प्लेयर माइकल हसी और डेविड हसी ऑस्ट्रेलिया के लिए काफ़ी क्रिकेट खेल चुके हैं। एक ओर जहाँ, माइकल हसी क्रिकेट के सभी फॉर्मेट के बेहतरीन खिलाड़ी थे लेकिन डेविड टी-20 फॉर्मेट के खिलाड़ी थे।

डेविड हसी की बात करें तो उन्होंने बड़े भाई माइकल हसी की तुलना में ज़्यादा टी 20 क्रिकेट खेला है। इन दोनों भाइयों की जोड़ी ने आईसीसी टी-20 वर्ल्ड कप 2009, 2010 और 2012 साथ में खेला है. दोनों ही टूर्नामेंट में अच्छा प्रदर्शन करने में सफल रहे।

जहां माइकल हसी ने 21 मैचों में 139.61 के स्ट्राइक रेट के साथ 437 रन और उनके भाई डेविड हसी ने 10 मैचों में 132.20 के स्ट्राइक रेट के साथ 234 रन बनाये है और साथ ही साथ 10 विकेट भी लिए है।