सेहत

सुबह उठकर गलती से भी ना करें ये काम, वरना हो जाएगी ऐसी खतरनाक बीमारी !

सुबह के वक्त जागने के बाद बेड पर कुछ देर पड़े रहना और फिर एक कप गर्मागर्म कॉफ़ी या फिर चाय के साथ दिन की शुरुआत करना सभी को अच्छा लगता है. लेकिन क्या आप जानते हैं कि ऐसा करना आपके लिए नुकसानदायक है. यह आपके पाचनतंत्र को अपना आदी बनाकर आपको बीमार कर रहा है. आपके लिए यह यकीन करना मुश्किल होगा लेकिन बहुत सी चीजें ऐसी भी होती हैं जो आमतौर पर हमारी सेहत के लिए बहुत लाभदायक हैं लेकिन इनका सेवन सुबह खाली पेट करना बहुत ही नुकसानदायक है. आज इस लेख में हम आपको ऐसे ही कुछ खाद्य पदार्थों के बारे में बताने जा रहे हैं जिनको सुबह खालीपेट खाना आपके लिए हानिकारक है.

कच्चा केला…


सुबह खाली पेट कच्चा केला खाने से यह आपको नुकसान पहुंचा सकता है. यह आपके रक्त में मैग्नीशियम की मात्रा को बढ़ा कर आपके ह्रदय को प्रभावित कर सकता है.

मिर्च या कोई और गर्म तासीर वाला मसाला…


सुबह खाली पेट किसी तरह की मिर्च या किसी गर्म तासीर वाले मसाले का सेवन करने से आपका पाचनतंत्र प्रभावित होता है. इसके कारण आपका पाचनतंत्र उत्तेजित हो जाता है. इससे गैस की समस्या उत्पन्न हो जाती है.

खट्टे फल…


खट्टे फलों में फ्रूट एसिड मौजूद होता है. अगर इनका सुबह खाली पेट सेवन किया जाए तो ये पेट में एसिडिटी और अल्सर्स उत्पन्न कर सकते हैं. ये आपके पाचनतंत्र को प्रभावित कर सकते हैं.

हरी सब्जियां…


कच्ची हरी सब्जियां सेहत के लिए अच्छी होती हैं लेकिन अगर इनका सुबह खालीपेट सेवन किया जाए तो आपके पेट को नुकसान पहुंचा सकती हैं और पेट दर्द की समस्या उत्पन्न कर सकती हैं.

दही…


सुबह सोकर उठने के वक्त आपका शरीर हाइड्रोक्लोरिक एसिड से भरा होता है. इसलिए अगर आप खालीपेट दही का सेवन कतरते हैं तो दही में मौजूद अधिकतर अच्छे बैक्टीरिया इस एसिड से ख़त्म हो जायेंगे.

टॉफ़ी व मिठाई…


ये आपके शरीर में शुगर की मात्रा बढ़ाती हैं. इनकी वज़ह से पैंक्रियास और लीवर पर दबाव बढ़ जाता है. अगर आप प्रतिदिन ऐसा करते हैं तो इससे आपके ये दोनों अंग सही से काम करना बंद कर देते हैं.

कॉफ़ी…

कॉफ़ी में मौजूद कैफीन एसिडिटी का कारण है और यह आपके शरीर के पाचनतंत्र के लिए बहुत ही नुकासानदायक है.

अल्कोहल…


अगर आप सुबह खाली पेट अल्कोहल का सेवन करते हैं तो यह तेजी से आपके शरीर में फ़ैल जाता है और बिना समय लिए आपके दिमाग तक चला जाता है. यह आपके दिमाग व दिल के साथ और भी कई अंगों को प्रभावित करता है.

Back to top button