खेल

पर्थ : दूसरे दिन कंगारुओ का विराट -रहाणे ने लिया बुरा हाल,  भारत 172/3

virat Kohli Perth 50

पर्थ, कप्तान विराट कोहली (नाबाद 82) और उपकप्तान अजिंक्या रहाणे (नाबाद 51) के शानदार अर्धशतकों के दम पर भारत ने दूसरे क्रिकेट टेस्ट के दूसरे दिन शनिवार को ऑस्ट्रेलिया को करारा जवाब देते हुए अपनी पहली पारी में तीन विकेट पर 172 रन बना लिए।
भारत ने सुबह ऑस्ट्रेलिया को पहली पारी में 326 रन पर समेटा था और अब वह पहली पारी में ऑस्ट्रेलिया से 154 रन पीछे है। विराट और रहाणे ने चौथे विकेट के लिए 184 गेंदों में 90 रन की अविजित साझेदारी कर डाली है।
विराट एक और शतक की तरफ अग्रसर हैं और उन्होंने 181 गेंदों पर नाबाद 82 रन में नौ चौके लगाए हैं जबकि रहाणे ने 103 गेंदों पर नाबाद 51 रन में छह चौके और एक छक्का लगाया है।

विराट और रहाणे ने अपनी साझेदारी के दौरान ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों को हावी होने का कोई मौका नहीं दिया। दोनों ने मैदान पर शानदार शॉट खेले। विराट और रहाणे के स्ट्रेट ड्राइव तो ख़ास तौर पर देखने लायक थे। विराट ने तो ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ जैसे बड़ी पारियां खेलने की आदत डाल ली है।
भारतीय कप्तान का ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ यह 10वां फिफ्टी प्लस स्कोर था और पिछले नौ में से छह मौकों को विराट ने शतक में बदला है।
विराट अब शतकों की रजत जयंती मनाने से मात्र 18 रन दूर रह गए है। विराट का उनके डिप्टी रहाणे ने अच्छा साथ दिया है और दोनों ने दिन की समाप्ति पर भारत को सुखद स्थिति में पहुंचा दिया है।

सुबह ऑस्ट्रेलिया को समेटने के बाद भारत ने काफी ख़राब शुरुआत की और मात्र आठ रन तक दोनों ओपनरों को गंवा दिया। मुरली विजय और लोकेश राहुल दोनों नाकाम रहे। विजय को मिशेल स्टार्क ने तीसरे ओवर की आखिरी गेंद पर बोल्ड कर दिया। विजय 12 गेंद खेल कर अपना खाता नहीं खोल पाए। राहुल को छठे ओवर की आखिरी गेंद पर जोश हेजलवुड ने बोल्ड किया। राहुल ने 17 गेंदें खेलकर मात्र दो रन बनाये।

पिछले मैच के शतकधारी और मैन ऑफ द मैच रहे चेतेश्वर पुजारा ने एक बार फिर ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों का डटकर सामना किया। पुजारा ने विराट के साथ तीसरे विकेट के लिए 74 रन जोड़े और भारत को संकट से बाहर निकाला। पुजारा के संघर्ष को स्टार्क ने उन्हें टिम पेन के हाथों कैच कराकर समाप्त किया। पुजारा ने 103 गेंदें खेलीं और 24 रन में मात्र एक चौका लगाया। पुजारा का विकेट 82 के स्कोर गिरा लेकिन इसके बाद विराट और रहाणे ने टीम को कोई और नुकसान नहीं होने दिया।

इससे पहले आस्ट्रेलिया ने छह विकेट पर 277 रन से आगे खेलना शुरू किया। कप्तान टिम पेन (16) और पैट कमिंस (11) ने अपनी पारी को आगे बढ़ाया। दोनों ने टीम के स्कोर को 300 के पार पहुंचा दिया। इस समय ऐसा लग रहा था कि ऑस्ट्रेलिया 350 से ज्यादा के स्कोर की तरफ अग्रसर हो चुका है। लेकिन भारतीय गेंदबाजों ने 16 रन के अंतराल में ऑस्ट्रेलिया के आखिरी चार विकेट निकालकर मेजबान टीम की पारी 326 रन पर समेट दी।
उमेश यादव ने कमिंस को बोल्ड किया। कमिंस ने 19 रन बनाये और वह अपने स्कोर में आठ रन का इजाफा कर सके। जसप्रीत बुमराह ने पेन को पगबाधा कर भारत को आठवीं सफलता दिला दी। पेन ने 89 गेंदों में पांच चौकों की मदद से 38 रन बनाए। इशांत शर्मा ने मिशेल स्टार्क और जोश हेजलवुड के विकेट लेकर ऑस्ट्रेलिया की पारी निपटा दी।
इशांत 20.3 ओवर में 41 रन पर चार विकेट लेकर भारत के सबसे सफल गेंदबाज रहे। बुमराह को 53 रन पर दो विकेट, यादव को 78 रन पर दो विकेट और हनुमा विहारी को 53 रन पर दो विकेट मिले।

भारत के लिए बतौर कप्तान सबसे ज्यादा 50+ स्कोर 

82 – एमएस धोनी
59 – विराट कोहली
59 -मोहम्मद अजहरुद्दीन
59 -सौरव गांगुली

Back to top button