खेल

आज जानिए उस क्रिकेटर की कहानी, जिसने जिताया 2011 वर्ल्डकप, आज भी रहता गांव में

आप सब को मुनाफ पटेल का नाम पता ही होगा। ये एक तेज गेंदबाज थे क्रिकेट की दुनिया मे। इसलिए उन्हें लोग तेज गेंदबाज एक्सप्रेस के नाम से पुकारते थे। ये क्रिकेटर गुजरात के एक छोटे से गांव जिसका नाम झकार है। वहां के रहने वाले हैं। उन्होंने अपने क्रिकेट स्टाइल से लोगों का दिल जीता और एक छोटे से गांव का नाम रोशन किया है। आज हम मुनाफ से जुड़े कुछ रोचक जानकारी आपको देने वाले हैं।

शुरवात ऐसे हुई कि गांव में सबसे ज्यादा तेज बॉलिंग मुनाफ किया करते थे। क्योंकि वह बहुत तेज बॉलिंग करते थे, तो उन्हें क्रिकेटर की दुनिया में जरूर अपना हाथ आजमाना चाहिए था। परंतु उन्होंने इसके बारे में कभी भी नहीं सोचा, क्योंकि वह पारिवारिक स्थिति से गरीब थे।

बताया जाता रहा है कि मुनाफ के पिता दूसरों के खेतों में काम किया करते थे और पैसे कमा कर अपने घर का जैसे तैसे पेट पालते थे। परिवार की आर्थिक स्थिति इतनी अच्छी नहीं थी, कि अच्छे से घर चल सके। इसलिए मुनाफा को भी कम उम्र में ही मार्बल फैक्ट्री में मजदूरी करनी पड़ी। यहां पर उनको 8 घंटे काम करना पड़ता था जिसके लिए उन्हें महीने में 35 रुपए मिलते थे।

बात की जाए उनके स्कूल की तो वहां पर क्रिकेट खेलते थे और बाकी टाइम पर वह फैक्ट्री में मजदूरी करके पैसे कमाते थे। किसी ने उनकी बाल मजदूरी के बात उनके स्कूल टीचर को बता दी।

तभी स्कूल टीचर ने मुनाफ को समझाया और कहा की जब तुम्हारी उम्र होगी पैसे कमाने की, तब तुम पैसा कमाना। अभी सिर्फ अपने खेल पर ध्यान दो और उसके अलावा अपनी पढ़ाई पर ज्यादा ध्यान दो।

कहते हैं ना कि जब भगवान साथ देता है तो किसी न किसी रुप में हमें हमारा फरिश्ता मिल जाता है। ऐसे ही मुनाफ की दोस्ती एक यूसुफ नाम के लड़के से हुई। वह लड़का उन्हें क्रिकेट खेलने के लिए बड़ोदरा लेकर आया।

आप ये कह सकते हैं कि यूसुफ ने क्रिकेट खेलने में मुनाफ का बहुत साथ दिया। पहले मुनाफा चप्पल पहनकर क्रिकेट खेलते थे। परंतु यूसुफ ने उन्हें जूते दिलवाए और उसके बाद क्रिकेट क्लब में एडमिशन भी दिलवाया।

मुनाफा को हमेशा बड़ौदा तक जाने में 90 मिनट लगता था। कहने का मतलब है कि उनका गावँ बड़ोदरा से 90 मिनट की दूरी पर था। उन्हें रोजाना ट्रेनिंग के लिए अप डाउन करना पड़ता था। फिर भी मुनाफ ने कभी भी हिम्मत नहीं हारी और रोजाना ट्रेनिंग के लिए आते जाते रहते थे। उसके बाद 2009 मार्च में मुनाफा का टीम इंडिया में सेलेक्शन हो गया।

सबसे पहले उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ एक टेस्ट खेला था। जिसके अंदर उन्होंने 9 विकेट लिए थे। उसके बाद मुनाफ ने मुंबई इंडियन्स, राजस्थान रॉयल्स और गुजरात लायन्स के लिए आईपीएल खेला।

 

Back to top button