देशराजनीति

सोनिया के गढ़ में मोदी की हुंकार, कहा-कांग्रेस सेना को कमजोर करने वाली ताकतों के साथ

PM Narendra Modi in UP

रायबरेली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने यहां जनसभा में कहा कि कांग्रेस सेना को कमजोर करने वाली ताकतों के साथ है। मोदी पर दाग लगाने के लिए कांग्रेस ने देश को ताक पर रखा। कांग्रेस सरकारों का ​इतिहास सेना के प्रति क्या रहा यह देशा कभी भूलेगा नहीं। रक्षाा सौदों के मामले में कांग्रेस का इतिहास क्वात्रोची मामा का रहा है। प्रधानमंत्री ने कहा कि रायबरेली की कोच फैक्ट्री दुनिया की सबसे बड़ी रेल कोच फैक्ट्री बनेगी। उन्होंने कहा कि 2014 में यहां की तीन प्रतिशत मशीनें ही काम कर रही थी। हमारी सरकार आने के तीन महीने के भीतर ऐसा कोच निकला जो रायबरेली की बनी हुई थी। अब सारी मशीनें पूर्ण क्षमता के साथ कार्य कर रही हैं। यह फैक्ट्री 2010 में बन गयी थी लेकिन चार साल में पूरी क्षमता से काम ही नहीं करने दिया गया।

मोदी ने कहा कि रायबरेली की भूमि ने अध्यात्म से लेकर स्वतंत्रता संग्राम के आन्दोलन और साहित्य से लेकर राजनीति के क्षेत्र में देश को दिशा दिखाई है। यह महर्षि जमदग्नि की भूमि है। राणा बेनी माधव की भूमि है। यह जायसी की अपनत्व की भूमि है। यहां पर महावीर प्रसाद की रचनाएं हुई। इसी भूमि ने राजनारायण को भी आशीर्वाद दिया। यह ऋषि मुनियों के तप की धरती है। गौरवमय इतिहास से जुड़ी इस भूमि के विकास के लिए केन्द्र व प्रदेश सरकार प्रतिबद्ध है। देश के साधनों और संसाधनों से भेदभाव हुआ है। उन्होंने कहा कि रायबरेली में मेट्रो रेल के डिब्बे भी बनेंगे इस कोच फैक्ट्री के अत्या​धुनिक करने का कार्य जारी है। अगले वर्ष इसकी क्षमता तीन हजार तक पहुंच जायेगी।

हमारा प्रयास इसे पांच हजार कोच प्रतिवर्ष ले जाने का है। इसके लिए जो काम अब हो रहा है। रायबरेली कोच फैक्ट्री ​दुनिया की सबसे बड़ी रेल कोच फैक्ट्री होगी। बहुत जल्द इस फैक्ट्री में मेट्रो रेल के डिब्बे बनेंगे। इससे राजबरेली के लघु और मध्यम उद्योंगों को भी लाभ होगा। भाजपा सरकार बनने से पहले लोकल लोगों से एक करोड़ का सामान खरीदा जाता था। वहीं इस वर्ष सवा सौ करोड़ रुपये का सामान यहां के स्थानीय व्यापारियों से खरीद चुकी है। अब खरीद का आंकड़ा और बढ़ेगा। अब यहां इण्डस्ट्रियल पार्क भी बनेगा। इससे लघु उद्योगों को फायदा होगा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार ने जब इस फैक्ट्री खोलने का विचार किया था तब कहा था कि पांच हजार लोगों को रोजगार मिलेगा। लेकिन स्वीकृति मात्र आधे की दी गयी। 2014 के बाद यहां की कोच फैक्ट्री में एक भी नियुक्ति नहीं की गयी। यहां काम करने वाले कर्मचारी बाहर के थे। अब दो हजार नये कर्मचारियों को केन्द्र सरकार ने नियुक्त कर दिया है। वहीं स्थाई कर्मचारियों की संख्या जो 200 थी वह संख्या बढ़कर 1500 हो गयी है। ग्लोबल हब बनने वाला है रायबरेली की कोच फैक्ट्री।

यह फैक्ट्री 2010 में बन गयी थी लेकिन चार साल में पूरी क्षमता से काम ही नहीं करने दिया गया। 2022 तक हर गरीब को पक्की छत देगी। अब तक देश में सवा करोड़ से ज्यादा घरों का निर्माण पूरा हो चुका है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी इसे इससे पहले अत्याधुनिक कोच फैक्ट्री का निरीक्षण किया। प्रधानमंत्री मार्डन रेल कोच फैक्ट्री में गाड़ी से घूम कर निरीक्षण किया और अधिकारियों से जानकारी हासिल की। यहां पर रोबोट के जरिए कोच का निर्माण होता है। इस मौके पर राज्यपाल रामनाईक,मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, रेल मंत्री पीयूष गोयल, विधानसभा अध्यक्ष ह्रदय नारायण दीक्षित,प्रदेश भाजपा अध्यक्षा डा.महेन्द्र नाथ पाण्डेय, भाजपा नेता राम नरेश रावत, सुधीर हलवासिया और विधायक धीरेन्द्र बहादुर सिंह उपस्थित रहे।

Back to top button