ख़बरदेश

फिर एक बार बन गई मोदी सरकार, हो जाइये इन 5 कड़े फैसलों के लिए तैयार !

फिर एक बार मोदी सरकार. देश का फैसला सामने आ गया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम और काम पर भारतवासियों ने भरोसा जताया है और क्या खूब जताया है. बंपर जीत के साथ सत्ता में मोदी की वापसी हुई है. तमाम एग्जिट पोल्स ने जो भविष्यवाणी की थी, नतीजे भी वैसे ही आए हैं. नरेंद्र मोदी की ना सिर्फ सत्ता में वापसी हुई है, बल्कि ये वापसी बहुत धमाकेदार भी हुई है. अब जबकि केंद्र में बड़ी ताकत के साथ मोदी सरकार की वापसी हो गई है, तो उम्मीद है कि सरकार सबसे पहले धीरे-धीरे वो फैसले लेगी, जो उसके एजेंडे में हैं. ये फैसले नोटबंदी जैसे सख्त भी हो सकते हैं.

आतंकवाद पर और सख्त फैसला

आतंकवाद को लेकर मोदी सरकार बिल्कुल सख्त है. 282 सीटों के दम पर ही बीजेपी की सरकार ने पाकिस्तान के खिलाफ सख्त रुख अपनाया. फिर चाहे सर्जिकल स्ट्राइक हो या फिर एयरस्ट्राइक हो. अब जबकि बीजेपी दोबारा सत्ता में आ गई है तो पाकिस्तान के खिलाफ सख्त फैसले लेने को तरजीह मिल सकती है.

बेनामी संपत्ति पर प्रहार?

मोदी सरकार 2014 में आते ही नोटबंदी और जीएसटी जैसे कड़े कदम उठाए गए, जिससे हर कोई हैरान रह गया था. विपक्ष ने इन फैसलों की निंदा की, लेकिन मोदी सरकार पूरी ताकत के साथ आगे बढ़ी. यही नहीं, नरेंद्र मोदी कई बार बेनामी संपत्ति का जिक्र कर चुके हैं. इस बार वो बेनामी संपत्ति पर करारी चोट कर सकते हैं.

तीन तलाक पर बड़ा फैसला?

मुस्लिम महिलाओं को हक दिलाने की बात कर बीजेपी ने संसद में तीन तलाक बिल पेश किया. जिसमें अपनी पत्नियों को तीन तलाक देने वाले मुस्लिम पुरुषों के खिलाफ एक्शन लेने की बात कही गई हैं. बीजेपी इस बिल को लोकसभा-राज्यसभा में ला चुकी है, लेकिन विपक्ष ने हर बार अड़ंगा लगाया है. बीजेपी की सत्ता में वापसी के बाद मुस्लिम महिलाओं के हित में ये फैसला लागू किया जा सकता है.

समान नागरिक कानून

हर नागरिक के लिए एक ही कानून का मुद्दा बीजेपी काफी समय से उठाती रही है. यानी किसी भी धार्मिक कानून की जगह सिर्फ संविधान का कानून चलेगा. इसके तहत हर परिवार में दो बच्चे, शादी, संपत्ति के अधिकार नियमित किए जा सकते हैं. इस बार की सरकार में भारतीय जनता पार्टी इस ओर कदम बढ़ा सकती है.

NRC के मुद्दे पर आगे बढ़ेगी सरकार?

पूर्वोत्तर में NRC का मुद्दा इस बार के चुनाव में छाया रहा है. असम-अरुणाचल में जिस तरह से विरोध के बावजूद बीजेपी इस मुद्दे पर आगे बढ़ी उससे वह विपक्ष पर हमलावर है. बीजेपी ने NRC को पूरे देश में लागू करने का वादा किया है, मोदी की नई केंद्र सरकार इसे हकीकत में तब्दील कर सकती है.

Back to top button