मायानगरी

#MeToo क्या कृति ने नाना पाटेकर और साजिद खान को निर्दोष बताया है?

बॉलीवुड में चल रहे #MeToo कैंपेन में आए दिन नए और चौंकाने वाले मामले सामने आ रहे हैं. लेकिन इन मामलों की कितनी सच्चाई है, इसपर एक्ट्रेस कृति सेनन ने सवाल उठाए हैं. कृति सेनन ने लोगों से यौन शोषण के खिलाफ ‘मी टू’ अभियान को जिम्मेदारी के साथ संभालने और अपनी गुमनामी के कारण अभियान को कमजोर नहीं करने का आग्रह किया. कृति का मानना है कि किसी के खिलाफ गंभीर आरोप लगाने से पहले पुरुष और महिला को अपनी पहचान उजागर करनी चाहिए.

कृति ने ट्विटर के जरिए कहा, “क्या होगा जब किसी के खिलाफ एक ‘गुमनाम लड़की’ की ‘मी टू’ कहानी सामने आएगी? क्या हम उस पर आसानी से विश्वास कर लेंगे और वह भी बिना जाने कि वह लड़की कौन है या वास्तव में है भी या नहीं? किसी निष्कर्ष पर कोई कैसे पहुंचेगा? क्या यह सही है कि पीड़िता के नाम के बिना ही आई मी टू कहानी के आरोपी को ‘दोषी’ मान लिया जाए? क्या मीडिया को ऐसी कहानियों को दिखाना चाहिए?”

कृति के मुताबिक, बिना पहचान की कहानी किसी का नाम और करियर दोनों खराब कर सकती है. इसलिए उन्होंने सभी से ‘मी टू’ अभियान को जिम्मेदारी के साथ संभालने और इसके लिए वैधानिक तरीका तलाशने को कहा है. उन्होंने लिखा, “वह लोग जो अपनी मी टू कहानियां साझा करना चाहते हैं, उन सभी महिलाओं/पुरुषों को अपने नामों व चेहरों के साथ खुले में आना चाहिए. या फिर प्राथमिकी व कानूनी मामला दाखिल करना चाहिए ताकि मामले की जांच हो सके और मी टू अभियान न कमजोर हो सके और न इसका दुरुपयोग हो सके.”

बता दें, कृति सेनन इन दिनों फिल्म ‘हाउसफुल 4’ की शूटिंग में बिजी हैं. ‘हाउसफुल-4’ के डायरेक्टर साजिद खान और अभिनेता नाना पाटेकर पर यौन उत्पीड़न के आरोप लग चुके हैं.

Back to top button