जरा हट के

दूल्हा आया घोड़ी पर होकर सवार, बिना दुल्हन लौटा दी गई बारात

दुल्हा और घोड़ी एक दूसरे के पूरक हैं, बगैर घोड़ी के दूल्हा भी अधूरा लगता है और वैसे भी हर व्यक्ति का सपना होता है कि वह दुल्हा बन घोड़ी पर सवार होकर अपनी दुल्हनियां को लेने पहुंचे। लेकिन एक दुल्हे को घोड़ी पर सवार होना उस समय महंगा पड़ गया, जब वह घोड़ी चढ़कर तोरण मारने पहुंचा तो ऐन वक्त पर दूल्हन ने शादी से इन्कार कर दिया।

यह सब हुआ राजस्थान के दौसा में, जहां तीन बहिनों की एक साथ शादी थी। इस शादी में दो दुल्हे तो मोटर में सवार होकर आए थे, जबकि तीसरा दुल्हा घोड़ी चढ़कर आया तो बात बिगड़ गई और दुल्हा बैरंग लौट गया। इधर दुल्हे के बैरंग लौटने के बाद दुल्हन मण्डप के नीचे बैठकर शादी की बाट जोह रही है। इस उम्मीद के साथ की मामले में सुलह हो जाए और शायद बात बन जाए। इधर, बात बिगड़ने के बाद परिजनों ने इस मामले में दुल्हे पक्ष पर दहेज का आरोप लगाते हुए पुलिस में रिर्पोट दी है।

दरअसल, शहर के लालसोट रोड स्थित बावरिया की ढाणी में प्रहलाद बावरिया की तीन बेटियों की शादी थी।  प्रहलाद की बड़ी बेटी की बारात दौसा से, उससे छोटी की बारात बस्सी से तथा सबसे छोटी बेटी की बारात बड़ा गांव से आई थी। प्रहलाद बावरिया ने तीनों पक्षों से बारात बिना घोड़ी के लाने की गुजारिश की। बड़ी दो बेटियों के दुल्हे मोटर मे सवार होकर आये और हंसी-खुशी शादी की सभी रस्में पूरी करा दुल्हनों को अपने साथ ले गये।

प्रहलाद की सबसे छोटी बेटी के लिए बड़ा गांव से आया दुल्हा दुल्हन पक्ष की परम्पराओं के खिलाफ घोड़ी पर सवार हो आया। घोड़ी पर दुल्हे के सवार होकर आने की बात को लेकर शुरू हुआ विवाद इतना बढ़ गया कि बारात बगैर दुल्हन के ही वापस लौट गई। बारात के वापस लौट जाने से घर मे शादी का माहौल गम मे तब्दील हो गया। घर मे बारात के लिए बना खाना रखा रह गया। दुल्हन के हाथों पर सजी मेहंदी समाज की रूढीवादी परम्परा और दहेज की भेट चढ़ गई।

अशिक्षित बावरिया परिवार अब भी दुल्हे के परिजनों को मनाने मे लगे है। इसी आशा मे आज तक घर के आंगन मे मण्डप दुल्हे का इन्तजार कर रहा है। दुल्हन के दादा मूलचन्द ने आरोप लगाया कि दुल्हा घोड़ी लेकर दरवाजे तक आया था, लेकिन वह तीन लाख रुपए और बाईक की मांग करने लगा। दुल्हन के पिता की आर्थिक स्थिती ठीक नही होने के कारण दहेज की मांग पूरी नहीं कर सके और दुल्हा यहां से बिना फेरे लिये ही फरार हो गया।

दुल्हन की मां साबु देवी ने बताया तीन लाख नकद और बाईक की मांग करने वाले दुल्हे के खिलाफ पुलिस मे भी शिकायत दे दी है, लेकिन पुलिस ने अभी तक कोई कारवाई नहीं की है। इस मामले को अब सामाजिक स्तर पर निपटाने का प्रयास किया जा रहा है।

Back to top button