राजनीति

ममता का नया हमला- मोदी सिर से पांव तक खून से सने, मैं उनको नहीं मानती प्रधानमंत्री

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने ऐसा बयान दिया है, जिससे राजनीतिक गलियारों में बहस छिड़ सकती है. झरग्राम में चुनाव प्रचार के दौरान ममता ने कहा कि मैं नरेंद्र मोदी को देश का प्रधानमंत्री नहीं मानती, इसलिए मैंने उनके साथ मीटिंग नहीं की. मैं उनके साथ एक प्लेटफॉर्म साझा नहीं करना चाहती. अब मैं अगले प्रधानमंत्री से ही बात करूंगी. तूफान से निपटने में पश्चिम बंगाल सक्षम है, हमें केंद्र सरकार की मदद की जरूरत नहीं है.

झरग्राम के बाद ममता की रैली बिशनुपुर में हुई. यहां तो वो और भी आक्रामक नजर आईं. ममता बोलीं- अगर मैं टोल कलेक्टर हूं, तो वो (मोदी) क्या हैं? सिर से पांव तक वो खून से सने हुए हैं. जब उनसे पूछा जाता है कि आपकी पत्नी क्या करती है, कहां रहती है, वो बोलते हैं कि उनको नहीं पता. जो अपनी पत्नी का ख्याल नहीं रख सकता, क्या वो देशवासियों का ख्याल रख सकेगा?

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि फानी तूफान से पश्चिम बंगाल में हुए नुकसान पर चर्चा के लिए मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को संपर्क करने की कोशिश की, लेकिन कई प्रयासों के बावजूद उनके अनुरोधों का जवाब नहीं दिया गया. मोदी ने पश्चिम बंगाल के तमलुक जिले में एक रैली को संबोधित करते हुए कहा ‘पश्चिम बंगाल की स्पीड ब्रेकर दीदी ने इस चक्रवात में भी राजनीति करने की भरपूर कोशिश की है.

मोदी ने कहा कि चक्रवात के समय मैंने ममता दीदी से फोन पर बात करने की कोशिश की थी, लेकिन दीदी का अहंकार इतना ज्यादा है कि उन्होंने बात नहीं की. मैं इंतजार करता रहा कि शायद दीदी वापस फोन करें, लेकिन उन्होंने फोन नहीं किया. मैं पश्चिम बंगाल के लोगों की चिंता में था इसलिए मैंने दोबारा फोन किया, लेकिन दीदी ने दूसरी बार भी बात नहीं की. दीदी की इस राजनीति के बीच, मैं पश्चिम बंगाल के लोगों को फिर भरोसा देता हूं कि केंद्र सरकार पूरी शक्ति से पश्चिम बंगाल की जनता के साथ खड़ी है और राहत के काम में राज्य सरकार का हर तरह से सहयोग कर रही है.

 

Back to top button