राजनीति

केजरीवाल को राहुल का ऑफर- मत लो यूटर्न, इतने पर मानो तो हो जाएगा गठबंधन

दिल्ली में गठबंधन पर...- India TV

लोक सभा चुनाव का आगाज़ हो चुका है| एक दौर का मतदान भी हो गया है| इस चुनाव में सियासी घमासान के बीच नेताओं की तरफ से आपत्तिजनक बयानबाजी भी तेज हो गई है. चुनाव के मद्देनजर पार्टियों का चुनावी अभियान जारी है| अपनी जीत सुनिश्चित करने के लिए सभी दिग्गज उम्मीदवार अपने संसदीय क्षेत्रों का दिन-रात दौरा कर रहे हैं और अच्छा  माहौल बनाने की कोशिश में जुटे हैं|

इस बीच बताते चले  आगमी लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Elections 2019) के मद्देनजर दिल्ली में कांग्रेस और आम आदमी पार्टी (AAP) के बीच गठबंधन की अटकलें लगातार जारी हैं|  बता दे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और दिल्ली के CM अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में अभी तक कांग्रेस पार्टी और AAP के बीच गठबंधन नहीं हो पाने को लेकर एक-दूसरे पर आरोप लगाना शुरू कर दिया है | पहले राहुल गांधी ने गठबंधन की बात करते हुए   हुए ट्वीट कर आरोप लगाया कि हमारी पार्टी  तो गठबंधन के लिए तैयार हैं लेकिन   केजरीवाल ने यू-टर्न (पलटना) ले लिया। इसके बाद केजरीवाल ने भी ट्विटर पर ही जवाब दिया और आरोप लगाया कि गठबंधन करना राहुल गांधी की इच्छा नहीं मात्र दिखावा है।

कांग्रेस अध्यक्ष ने अपने ट्वीट में लिखा था कि राजधानी ‘दिल्ली में कांग्रेस और AAP के बीच गठबंधन का मतलब मोदी सरकार की हार होगी। भाजपा को हराने के लिए कांग्रेस दिल्ली में AAP को 4 सीटें देना जिक्र किया है। लेकिन, अरविंद केजरीवाल ने एक बार फिर से यू-टर्न ले लिया। हमारे दरवाजे अब भी खुले हैं लेकिन समय बीत रहा है।’ राहुल गांधी के इस ट्वीट पर अरविंद केजरीवाल ने जवाब भी दिया।

AAP ने किया कांग्रेस पर पलटवार
वहीं, इस मामले पर AAP नेता संजय सिंह ने कहा कि पंजाब में AAP के 4 सांसद और 20 विधायक हैं लेकिन, कांग्रेस यहां एक भी सीट नही देना चाहती है. हरियाणा में जहां कांग्रेस का एक सांसद नहीं है, वहां भी वह आम आदमी पार्टी को एक सीट नही देना चाहती है. वहीं, दिल्ली में कांग्रेस के कोई सांसद और विधायक नहीं हैं, वहां कांग्रेस हमसे तीन सीट चाहती है. संजय सिंह ने कहा कि क्या ऐसे समझौता होता है. आप दूसरे राज्यों में भाजपा को क्यों नही रोकना चाहते हैं.

 

Back to top button