जरा हट के

80 साल की उम्र में 30 की लगती हैं ये महिलाएं, जानिए इस ‘जवानी’ की असल कहानी

खूबसूरती हर किसी को कायल करती है। हम दुनिया के किसी भी कोने में चले जाएं, रीति-रिवाज और संस्कृति हर जगह बदली होगी। आज हम आपको एक ऐसी जगह के बारे में बताने जा रहे हैं जहां की महिलाएं उम्रदराज होने के बाद भी कम उम्र की लगती हैं। यह जगह पाकिस्तान की है। जी हां यहां की 80 साल की महिलाएं 30 से 40 साल की महिलाओं जैसी दिखती है। सुंदरता का ऐसा रूप जिसे देखकर आप भी हैरान रह जाएंगे।

उत्तरी पाकिस्तान की काराकोरम पहाडिय़ों में स्थित हुंजा घाटी में हुंजा समुदाय के लोग रहते हैं। इस जगह के लोगों की औसतन आयु 120 साल होती है। सबसे हैरान करने वाली बात ये है कि यहां एक ओर जहां महिला 80 साल में भी बूढी नहीं होती। तो वहीं यहां के 90 साल के पुरुष भी पिता बन सकते हैं। इस समुदाय की बुरुशास्की भाषा है।

 

 

इन लोगों को बारे में कहा जाता है कि ये सिकंदर महान की सेना के वंशज हैं, जो चौथी सदी में भारत आए थे। बताया जाता है कि यहां के लोग पाकिस्तान के अन्य समुदाय की तुलना में ज्यादा शिक्षित होते हैं। हुंजा घाटी के लोगों की जनसंख्या 85 हजार से भी ज्यादा हैं। इस समुदाय के लोग मुस्लिम धर्म को मानते हैं। हुंजा समुदाय के उपर काफी किताबें लिखी गई हैं। इन किताबों में सबसे ज्यादा ‘द हेल्दी हुंजाजÓ और ‘द लॉस्ट किंगडम ऑफ द हिमालयाजÓ काफी प्रसिद्ध किताबों में से एक है।

 

मानसिक और शारीरिक स्थिति काफी मजबूत

 

 

 

 

 

 

 

 

हुंजा समुदाय के लोगों के बारे में कहा जाता है कि यहां के लोगों की मानसिक और शारीरिक स्थिति काफी मजबूत होती है। इनकी जीवनशैली की वजह से ही ये काफी खूबसूरत होते हैं। इनकी जीवनशैली अन्य लोगों की तुलना में काफी अलग होता है। ये लोग सुबह 5 बजे ही उठ जाते हैं। साइकिल या फिर गाड़ी का ये लोग काफी कम ही इस्तेमाल करते हैं।

गाड़ी की तुलना में ये लोग पैदल ही जाना पसंद करते हैं। ये लोग एक दिन मे सिर्फ दो ही बार खाना खाते हैं। खाने का समय भी फिक्स होता है एक बार ये 12 बजे खाते हैं, वहीं, दूसरी बार रात के 8-9 बजे के बीच में खा लेते हैं। इनका खाना भी एकदम नेचुरल होता है, यानि इनकी सब्जियों, फल, दूध, मक्खन इत्यादि चीजों में किसी भी तरह का मिलावट नहीं होता है।

Back to top button