देश

शहीद के माता-पिता के छुए पांव, फिर क्यों ट्रोल होने लगे कुमार विश्वास?

Kumar Vishwas reply on social media to trollers on Kota Shaheed family Post

आगामी लोक सभा चुनाव का आगाज़ हो चुका है. इस चुनाव में सियासी घमासान के बीच नेताओं की तरफ से आपत्तिजनक बयानबाजी भी तेज हो गई है। सभी पार्टियों ने चुनाव के  के मद्देनजर पार्टियों का चुनावी अभियान जारी है  आगामी लोग सभा चुनाव को लेकर  हर पार्टी अपने साथ ऐसे धुरंधर जोड़ने में लगी है जो चुनाव में उसके लिए वोट और विपक्षियों के लिए हार का सबब बनें। ऐसे में अफवाहों का बाजार गर्म है कि आम आदमी पार्टी का एक बड़ा चेहरा कुछ समय में भाजपा में शामिल हो सकता है। अगर ऐसा हुआ तो यह केजरीवाल और उनकी आम आदमी पार्टी के लिए बड़ा झटका हो सकता है।

यहां बात हो रही है कुमार विश्वास की। भले ही पार्टी में वह निष्क्रिय सदस्य के रूप में हैं लेकिन अगर औपचारिक रूप से बीजेपी में शामिल हो जाते हैं तो इसका नुकसान आम आदमी पार्टी को उठाना पड़ सकता है। हालांकि यह पहली बार नहीं होगा जब आप का कोई नेता पार्टी छोड़ेगा। इससे पहले भी 9 नेता पार्टी छोड़ चुके हैं जिसका खामियाजा पार्टी कई उपचुनाव में उठा चुकी है…

इस बीच बताते चले सोशल साइट्स प्लेटफार्म पर अपनी पोस्ट को लेकर प्रसिद्ध कवि कुमार विश्वास अक्सर चर्चा में रहते हैं, मगर इस बार अपनी एक पोस्ट पर कुमार विश्वास ट्रोल हो गए। बाद में दूसरी पोस्ट करके उन्होंने न केवल ट्रोलर्स को करारा जवाब दिया बल्कि धार्मिक कट्टरता और जातिवाद पर कटाक्ष भी किया।

जानिए क्या है मामला 

दरअसल, मामला राजस्थान के कोटा से जुड़ा है। 30 मार्च को राजस्थान की स्थापना दिवस के मौके पर कोटा के विभिन्न संगठनों की ओर से सांस्कृतिक संध्या का आयोजन किया गया था, जिसमें श्रृंगार रस के कवि कुमार विश्वास  ने भी शिकरत की। कार्यक्रम में पुलवामा हमला में शहीद हुए कोटा के सीआरपीएफ के जवान हेमराज मीणा के माता-पिता भी उपस्थित थे।

कुमार विश्वास मंच से अपनी प्रस्तुति दे रहे थे

तब उन्होंने शहीद हेमराज मीणा के माता-पिता को मंच पर बुलाया और सम्मानपूर्वक उनके पैर छूए। यहां तक तो सब कुछ ठीक था, मगर ​अगले दिन कुमार विश्वास ने अपने ट्विटर हैंडल और फेसबुक अकाउंट पर शहीद के माता-पिता के पैर छूने वाली तस्वीरें पोस्ट करके लिखा कि मंच की हज़ारों रातों में यह सौभाग्य शायद ही कभी प्राप्त होता है कि देश-धर्म पर परम बलिदान देने वाले जांबाज़ के जन्मदाताओं के चरण स्पर्श कर सकें। कल कोटा में ‘है नमन उनको’ #KVMusical के दौरान पुलवामा के शहीद कोटा के जाँबाज़ हेमराज मीणा जी के परिवार से मिलने का सौभाग्य।

अजीब हाल हो गया है हमारे देश का ! कोई कुछ सुनने-समझने को तैयार ही नहीं है ! पुलवामा के अमर शहीद हेमराज मीणा के पूज्य…

Gepostet von Dr. Kumar Vishwas am Sonntag, 31. März 2019

कुमार विश्वास की यह पोस्ट सोशल मीडिया में वायरल हो गई। फेसबुक पर 11 हजार लोगों ने इसे लाइक व एक हजार ने शेयर किया। वहीं 714 लोगों ने कमेंट किए हैं। वहीं ट्विटर पोस्ट को 784 बार रीट्वीट किया गया। इस पर 275 कमेंट व साढ़े सात हजार से ज्यादा लाइक भी हैं, मगर कई लोगों ने न केवल पोस्ट पर आ​पत्तिजनक कमेंट किए हैं बल्कि इस संबंध में कुमार विश्वास को मैसेज भी भेज डाले।

लोगों की इस मानसिकता पर कुमार विश्वास ने 31 मार्च को Facebook पर फीलिंग क्रोधित के एक्सप्रेशन साथ अपनी बात रखी और आपत्तिजनक कमेंट व मैसेज करने वालों को जवाब दिया। 

 

Back to top button