देशराजनीति

हनुमानजी पर मुरारी बापू का ज्ञान, बोले- वैज्ञानिक हैं बजरंगबली… 

Image result for हनुमानजी पर मुरारी बापू

इन दिनों चल रहे हनुमान बाबा पर सियासी बयान  शुरू है अब कई नेता मंत्री हनुमान बाबा की जाती का अलग अलग भाखन कर चुके है. बता दे हनुमान जी की जाति को लेकर देश में तरह-तरह के दावे किए जा रहे हैं। सीएम योगी आदित्यनाथ के बयान के बाद से हनुमान जी पर राजनीति भी तेज हो गई है।

मोरारी बापू ने हनुमान जी ने बताया वैज्ञानिक

इस  बीच देश के प्रख्यात राम कथा वाचक मोरारी बापू ने हनुमान जी ने  वैज्ञानिक बताया है। बापू का कहना है कि 21वीं सदी में हनुमान जी को एक वैज्ञानिक के रूप में याद करना चाहिए। समय के अनुरूप में हमें हनुमान जी को वैज्ञानिक दृष्टिकोण से देखना चाहिए। मुरारी बापू ने कहा, हमें कोशिश करना चाहिए की हम भगवान की प्रतिमा को गंदा न करें। श्रद्धाभाव अपनी जगह सही है, लेकिन उड़द, तेल, सिंदूर जैसी चीजे अत्याधिक मात्रा में चढ़ाने से प्रतिमा गंदी होती है। बापू ने कहा, पुरानी परंपराओं को भूलकर अब हमें हनुमान को नए तरीके से याद करना चाहिए। बापू ने इसी साल हनुमान जयंती पर एक धार्मिक आयोजन में कहा था कि युवाओं को हनुमान जी को केवल धार्मिक रूप में ही नहीं बल्कि वैज्ञानिक दृष्टिकोण से देखना चाहिए। बापू ने हनुमान को वैज्ञानिक बताने के पीछे पांच वजहें गिनाई।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने  हनुमानजी  को बताया था दलित

बता दें कि उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने भगवान को हनुमान को दलित बताया था। जिसके बाद से देशभर में हनुमान जी की जाति बताने को लेकर बयानबाजी शुरू हो गई। किसी ने हनुमान को आर्य बताया तो किसी ने क्षेत्रीय। दलित वर्ग के कुछ लोगों ने बीते दिनों योगी के बायन के बाद हनुमान मंदिर पर अपना कब्जा जमा लिया था। इन सब के बीच मुरारी बापू ने भगवान हनुमान को वैज्ञानिक बताया है।
Back to top button