जरा हट के

शादी की पहली रात दूल्हे को केसर वाला दूध पिलाती है हर दुल्हन, लेकिन क्यों?

हमारे भारत देश में शादी की पहली रात से जुड़ी एक परंपरा है। जो ना जाने कितनी ही सदियों से चली आ रही है। इस दूध को कुछ खास तरीके से तैयार किया जाता है जिसमें चीनी के साथ-साथ कुछ और चीजें भी मिली होती है। लेकिन क्या कभी आपने सोचा है कि इस परंपरा के पीछे क्या कारण होगा।

हिन्दू धर्म में दूध, केसर और बादाम को काफी पवित्र माना जाता है इसलिए सुहागरात के दिन दुल्हे को दुल्हन अपने हाथों से बादाम और केसर वाला दूध पिलाती है। इसके अलावा इसके पीछे वैज्ञानिक कारण भी है। दूध में शरीर की थकान दूर करने की और थकी हुई नसों को ऊर्जा देने की क्षमता होती है।

दूध पीने से सेक्सुअल सिस्टम मजबूत होता है और दूध में पाए जाने वाले पोषक तत्व शरीर के हार्मोन्स को बढ़ाते है। अपनी दुल्हन के हाथों से दूध पीकर एक ओर जहां दुल्हे का मानसिक तनाव कम हो जाता है तो वहीं दूसरी तरफ उसका मूड काफी रोमांटिक हो जाता है।

दूल्हा बेचारा दो-तीन दिन की रस्मों से इतना थक जाता है की उसे सुहागरात के लिए थोड़े जोश और एनर्जी की जरूरत होती है। ऐसे में चीनी मिले इस स्पेशल दूध से उसमे जोश और एनर्जी आ जाती है।

Back to top button