देश

बिहार में कन्हैया कुमार के समर्थकों और ग्रामीणों के बीच महाभारत, मामला दर्ज

Kanhiya Kumar

कन्हैया पर हमला करवाने का आरोप, दस नामजद समेत एक सौ लोगों पर मामला दर्ज

गढपुरा प्रखंड की कोरैय पंचायत में रविवार की शाम कन्हैया कुमार का विरोध कर रहे युवकों के साथ मारपीट का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। इस मामले में घायल राहुल कुमार ने दस नामजद समेत एक सौ अज्ञात लोगों के विरुद्ध गढ़पुरा थाना में मामला दर्ज कराया है जिसमें कन्हैया पर मारने का आदेश देने का आरोप लगाया गया है।

मामले में एआईएसएफ के जिलाध्यक्ष सजग सिंह, भाकपा के अंचल मंत्री विपिन सिंह, मालीपुर मुखिया राजेंद्र सहनी, राजेंद्र सहनी के पुत्र दीपक सहनी, पूर्व मुखिया ओम प्रकाश यादव, पूर्व मुखिया जय प्रकाश यादव, दीपक कुमार, साकेत कुमार, अमीर खान, अशोक यादव समेत एक सौ लोगों पर परंपरागत हथियार के बल पर विरोधी विचारधारा के युवकों तथा सड़क किनारे खड़े कुछ लोगों पर जानलेवा हमला करने का आरोप लगाया गया है।

इस संबंध में डीएम राहुल कुमार ने कहा है कि आवेदन मिला है।आपराधिक मामला दर्ज कर मामले को लेकर आवश्यक कार्रवाई की जा रही है। दूसरी ओर कन्हैया ने इसे भाजपा द्वारा प्रायोजित बताते हुए कहा कि बेगूसराय की जनता नफरत फैलाने वाली ताकतों को लोकतंत्र को भीड़तंत्र बनाने की कोशिशों में कामयाब नहीं होने देगी। भाजपाई हमारी एकजुटता को देखकर बौखला गए हैं। उनकी बौखलाहट बता रही है कि हमारे तर्कों के तीर निशाने पर लग रहे हैं।

जनसंपर्क कार्यक्रम के दौरान जिन लोगों ने प्रचार अभियान को रोकने की कोशिश की वे लोकतंत्र के मूल्यों के विरोधी हैं। चुनाव में हर उम्मीदवार को जनता तक अपनी बात पहुंचाने का अधिकार होता है लेकिन भाजपा जैसी संविधान विरोधी पार्टी से लोकतंत्र के मूल्यों का सम्मान करने की उम्मीद भी नहीं की जा सकती।

जो लोग उम्मीदवार और इस अधिकार के बीच दीवार बन रहे हैं उनके खिलाफ कानून को सख्त कार्रवाई करनी चाहिए। ऐसा करना चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन और दंडनीय अपराध है। चुनाव आयोग को इस पर संज्ञान लेना चाहिए ।लगातार तीसरा हमला है यह। प्रशासन लगातार इस तरह की घटनाओं की अनदेखी कर रहा है।

कन्हैया ने कहा आश्चर्य इस बात का है कि जब भी ऐसी घटना होती है, मीडियाकर्मी और पुलिसवाले वहां पहले से मौजूद रहते हैं। यह संयोग है या कुछ और, इसका पता लगाना प्रशासन की जिम्मेदारी है। हमारे प्रचार अभियान को रोकने की कोशिश करने वाले लोग आम ग्रामीण नहीं, भाजपा के प्रायोजित लोग हैं

Back to top button