खेल

हर क्रिकेटर का अलग होता है जर्सी नंबर, लेकिन दिए कैसे जाते हैं ?

अगर आप एक भारतीय हैं तो क्रिकेट जरुर देखते होंगे जी हां क्रिकेट भारत का सबसे लोकप्रिय खेल है भारत की हर गली मौहल्ले में क्रिकेट खेला जाता है आज हम आपको क्रिकेट से जुड़ी ऐसी जानकारी बताने जा रहे जिसे आप पहले भी जानना चाहते होंगे आज हम बतायंगे कि क्रिकेट खिलाड़ियों को जर्सी नंबर कैसे मिलते हैं.

अगर आप सोच रहे हैं कि किसी खिलाड़ी का जर्सी नंबर उसका क्रिकेट बोर्ड तय करता है तो आपका ऐसा सोचना गलत है क्योंकि क्रिकेट के खिलाड़ी अपना जर्सी नंबर खुद तय करते हैं. हर खिलाड़ी की जर्सी पर कोई न कोई जर्सी नंबर जरुर होता है इसके पीछे कोई न कोई रीज़न या कहानी जरुर होती है.

सचिन तेंदुलकर के जर्सी नंबर की बात करे तो उनका जर्सी नंबर 10 है जिसे उन्होंने खुद चुना है सचिन ने एक इन्टरव्यू में खुद बताया था कि उनके सरनेम पर टेन आता है इसलिए उन्होंने अपनी जर्सी के लिए 10 नंबर को चुना है जो उनके लिए काफी लकी साबित हुआ है. आज हम भारतीय टीम के पांच खिलाड़ी के जर्सी नंबर के पीछे की कहानी बताने जा रहे हैं.

महेंद्र सिंह धोनी का जर्सी नंबर 7 है इसके पीछे की कहानी जाने तो इसके पीछे उनकी बर्थडे डेट यानी 7 जुलाई है इसके अलावा महेंद्र सिंह फुटबॉल को भी काफी पसंद करते है फुटबॉल में धोनी के पसंदीदा खिलाड़ी रोनाल्डो हैं जिनकी जर्सी का नंबर भी 7 है.

विराट कोहली जर्सी नंबर 18 भारतीय टीम के मौजूदा कप्तान और रन मशीन माने जाने वाले विराट कोहली की जर्सी का नंबर 18 है विराट के इस नंबर के पीछे उनके पापा हैं 18 दिसंबर 2006 को उनके पापा का निधन हुआ था तब विराट 18 साल के ही थे बस यहीं से वो 18 नंबर की जर्सी पहनने लगे थे.

टीम इंडिया के आलराउंडर हार्दिक पांड्या का जर्सी नंबर 228 है उनके इस नंबर के पीछे की कहानी भी काफी दिलचस्प है हार्दिक पांड्या बड़ोदरा की तरफ से अंडर 16 का मैच खेल रहे थे इस मैच में उन्होंने 228 रन बनाकर अपनी टीम को बड़ी जीत दिलाई थी. तभी से हार्दिक पांड्या 228 नंबर की जर्सी पहन रहे हैं.

युवराज सिंह टीम इंडिया में महेंद्र सिंह धोनी के साथ काफी समय से बने हुए हैं इनकी जर्सी नंबर 12 है युवराज सिंह ने 12 नंबर को इसलिए चुना था क्योंकि उनका जन्म 12 दिसंबर को रात के 12 बजे हुआ था इसके अलावा वह उस समय चंडीगढ़ के सेक्टर 12 में रहते थे.

टीम इंडिया के स्पिनर रविचन्द्रन अश्विन का जर्सी नंबर 99 है आपको बता दे कि अश्विन का पसंदीदा नंबर 9 है टीम इंडिया में शामिल होते समय वह 9 नंबर लेना चाहते थे लेकिन 9 नंबर पहले से ही पार्थिव पटेल के पास था इसलिए अश्विन को 99 नंबर लेना पड़ा इसके अलावा स्कूल में अश्विन का रोल नंबर भी 9 था.

तो अब आप जान गए होंगे कि खिलाड़ियों को जर्सी नंबर कैसे मिलते हैं इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आपको पता चल गया होगा कि खिलाड़ी अपनी जर्सी का नंबर खुद से चुनते हैं.

Back to top button