बड़ों की बातें

सेक्स के मामले में महिलाओं ने तोड़ दिए मर्दों के रिकॉर्ड, खुद देख लें

शारीरिक सम्बन्ध तो मनुष्य की प्रेम-अभिव्यक्ति है, जिसे उपर्युक्त समय और परिवेश में करते रहना चाहिए। प्रेम संबंधों के स्थायित्व की प्रतिभूति है सेक्स; यह सभी इन्द्रियों का एक सम्पूर्ण व्यायाम है | सेक्स में संतुष्टि एक बहुत ही आवश्यक पहलु है इसके लिए दीर्घ मिलन तो आवश्यक है ही साथ ही दो अवस्थाएं भी आवश्यक हैं, तो आइये जाने कौन सा समय होता है जब बनाये गए शारीरिक सम्बन्ध सबसे प्रभावी होते हैं । शारीरिक सम्बन्ध बनाने से प्यार गहरा होता जाता है. इसी से आपके रिश्ते मजबूत होते हैं और आप दोनों में प्यार बना रहता है। सेक्स सम्बन्ध हर किसी के लिए ख़ास होते है. ये सिर्फ शारीरिक क्रिया नहीं है ये दो आत्माओ का मेल है, जो सुकून के साथ ही आत्मीय सुख भी देती है।

वैसे तो कहा जाता है कि सेक्स के मामले में हमेशा ही पुरुष आगे रहते हैं, लेकिन अब तक आप भी ये समझ चुके होंगे कि महिलाएं भी कुछ कम नहीं होती। सेक्स की जरूरत जितनी पुरुषों को होती है उतनी ही जरूरत महिलाओं को भी होती है लेकिन वे अक्सर ही पहल करने में शर्माती हैं। बता दें, संयोगवश होने वाले सेक्स में सिर्फ पुरुष ही आगे नहीं होते बल्कि महिलाएं इसमें दो कदम आगे हैं। महिलाएं अनजान लोगों के साथ सेक्स करने में पुरुषों के बराबर ही रूचि रखती हैं। इसी से जुडी कुछ और जानकारी हम आपको देने वाले हैं।

कैसे महिलाएं आगे हैं:
  • महिलाएं अनजान लोगों के साथ सेक्स करने में पुरुषों के बराबर ही रूचि रखती हैं। एक अध्ययन में पता चला है कि जब पुरुष महिलाओं की गर्दन को किस करते हैं तो उन्हें बहुत अच्छा लगता है।
  • महिलाओं के दिमाग में रेप फैंटसी भी होती है जिसे वो पार्टनर के साथ पूरा करना चाहती हैं। इतना ही नहीं, महिलाएं सेक्स को लेकर एडवेंचरस् होती हैं।  इसमें वो हर बार सेक्स में कुछ नया चाहती हैं और कई बार तो ऐसा भी चाहती हैं उनका पार्टनर रेप करे। महिलाओं के मन में रेप फेंटेसी होती है जिसके चलते वो चाहती हैं उनके साथ फोर्सफुली सेक्सुअल रिलेशन बनाए जाए।
  • महिलाएं अजनबियों के साथ सेक्स करने के प्रस्ताव को स्वीकार करने में झिझक नहीं करती। महिलाएं सेक्स में समलैंगिक क्रियाओं का भी आनंद उठाना चाहती हैं

 

Back to top button