खेलजरा हट के

ICC WTC Final: न्यूजीलैंड के खिलाफ 3 पेसर्स और 2 स्पिनर्स के साथ उतरेगा भारत, ये होगी टीम!

साउथेम्प्टन में न्यूजीलैंड के खिलाफ आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल में सिर्फ चार दिन बचे हैं। भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली और कोच रवि शास्त्री ने अपने गेंदबाजी संयोजन को लगभग तय कर लिया है। साउथेम्प्टन में भारत के 4 तेज गेंदबाजों के खेलने की चर्चा पर विराम लगना लगभग तय है।

एक्सपर्ट्स को लगता है कि टीम इंडिया न्यूजीलैंड के खिलाफ 3 पेसर और 2 स्पिन गेंदबाज के साथ उतरेगी। हालांकि, टीम मैनेजमेंट इस बात से सहमत है कि पिच और इंग्लैंड के परिस्थिती तेज गेंदबाजों के लिए उपयुक्त होगी। भारत अपने बेस्ट खिलाड़ियों के साथ खेलना चाहता है और प्लेइंग इलेवन में रवींद्र जडेजा और रविचंद्रन अश्विन के रूप में उनके पास 2 इन फॉर्म स्पिनर हैं और ये दोनों टेस्ट मैचों में भारतीय टीम की ताकत हैं।

हालांकि, दूसरा स्पिनर अगर टीम का हिस्सा होगा तो टीम इतनी कमजोर भी नहीं होगी। अगर 2018 के दौरे में विराट कोहली की कप्तानी में इंग्लैंड के खिलाफ खेले गए आखिरी टेस्ट मैच पर नजर डालें तो इंग्लैंड ने आदिल राशिद और मोइन अली दोनों को टीम में जगह दी थी। अली ने तो मैच में नौ विकेट लिए थे, जबकि अश्विन ने तीन विकेट हासिल किए थे।

टीम प्रबंधन को लगता है कि दो स्पिनरों को खेलने से काफी फायदा होगा। ऐसे में रविचंद्रन अश्विन के अलावा रवींद्र जडेजा दोनों भारत की बल्लेबाजी की ताकत को भी बढ़ाएंगे। तेज गेंदबाजों में जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी पहली पसंद होंगे। लेकिन इशांत शर्मा, मोहम्मद सिराज और शार्दुल ठाकुर के बीच तीसरे पेसर स्लॉट के लिए अभी भी सवाल बना हुआ है।

इशांत शर्मा ऑस्ट्रेलिया में अपनी ऊंचाई और उछाल के साथ तगड़ी गेंदबाजी करते हैं। लेकिन इंग्लैंड में विराट कोहली थोड़ी अधिक विविधता का विकल्प चुन सकते हैं और मोहम्मद सिराज को टीम में ला सकते हैं। हैदराबाद के इस तेज गेंदबाज ने पिछले कुछ महीनों में कमाल का प्रदर्शन किया है। उन्होंने ऑस्ट्रेलिया में मैच जिताने वाली गेंदबाजी के साथ ही बेजान भारतीय पिचों पर इंग्लैंड के बल्लेबाजों की हालत भी खस्ता कर दी थी। वहीं, शार्दुल ठाकुर भी एक विकल्प हैं। वो स्विंग तो करा सकते हैं साथ ही बल्लेबाजी में भी अच्छी भूमिका निभा सकते हैं।

हालांकि, इशांत शर्मा को इंग्लैंड में गेंदबाजी करने का बहुत अनुभव है और वह पिछले दौरे में सबसे ज्यादा 18 विकेट लेने वाले गेंदबाज थे।

विराट कोहली और रवि शास्त्री मौसम की स्थिति के आधार पर अंतिम क्षण में 3+2 संयोजन को बदल  भी सकते हैं। बता दें, हल्की बारिश का अनुमान भी लगाया जा रहा है और इससे विराट कोहली और रवि शास्त्री को चार पेसर और एक स्पिनर के साथ जाना पड़ सकता है।

साउथेम्प्टन की पिच से पहले तीन दिनों में तेज गेंदबाजों की मदद मिलने की संभावना है। इसके अलावा एजेस बाउल पिच ने पिछले काउंटी चैम्पियनशिप मैच में सभी विकेट तेज गेंदबाजों के खाते में गए हैं। इस स्थिति में रविचंद्रन अश्विन एकमात्र स्पिनर हो सकते हैं। भारत तेज गेंदबाजी विकल्प के रूप में जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी, मोहम्मद सिराज और इशांत शर्मा के साथ जा सकता है।

Back to top button