खेलजरा हट के

ICC WTC Final: इन 5 तेज गेंदबाजों पर रहेगी सबकी नजर, गेंद से ढाते हैं कहर

विश्व टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल आज से खेला जाना है। मैच में दो धाकड़ टीमें- भारत और न्यूजीलैंड एक दूसरे से भिड़ेंगी। फाइनल शुरू होने से पहले न्यूजीलैंड ने इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज में कमाल का प्रदर्शन करते हुए उन्हीं की धरती पर उनको मात दे दी है। न्यूजीलैंड ने इंग्लैंड के खिलाफ दो टेस्ट मैचों की सीरीज 1-0 से जीती। वहीं, भारतीय टीम इंट्रा-स्कवाड मैच खेलकर फाइनल की तैयारी कर रही है। आईए आपको बताते हैं कि फाइनल मैच में कौन से 5 गेंदबाज अपनी छाप छोड़ सकते सकते हैं।

जसप्रीत बुमराह-

साउथैंप्टन का हैंपशायर बाउल मैदान तेज गेंदबाजों के लिए काफी मददगार साबित होने वाला है। शुरू के तीन दिनों में ये पिच गेंदबाजों को खूब मदद करने वाली है। ऐसे में भारत के सबसे बेहतरीन तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह न्यूजीलैंड के बल्लेबाजों के लिए बड़ी मुसीबत बन सकते हैं। विश्व टेस्ट चैंपियनशिप में बुमराह का प्रदर्शन कमाल का रहा है। उन्होंने चैंपियनशिप में भारत के लिए 9 टेस्ट मैच खेले हैं। इन मैचों में उनके नाम 34 विकेट है। उनका औसत 22.41 का रहा है। बुमराह चाहेंगे कि अपने इसी प्रदर्शन को वह फाइनल में भी जारी रखें। भारतीय टीम का ये स्टार खिलाड़ी नई गेंद से खतरनाक स्विंग कराता तो है ही साथ ही अपनी यॉर्कर गेंदो से बल्लेबाजों की हालत खस्ता कर देता है।

इशांत शर्मा-

भारतीय टीम में सबसे अनुभवी तेज गेंदबाज इशांत शर्मा कमाल के फ्रॉर्म में हैं। उन्होंने 2019 से 2021 तक चले चैंपियनशिप में अपनी गेंदबाजी से पूरे विश्व में अपना डंका बजवाया है। उन्होंने इस दौरान 11 टेस्ट मैच खेले हैं और उनके नाम 36 विकेट दर्ज हैं। उनका औसत 17.36 का रहा है। साथ ही दिल्ली के इस स्टार गेंदबाज ने 3 बार पांच विकेट झटके हैं। इंग्लैंड में भी इस खिलाड़ी का प्रदर्शन शानदार रहा है। भारत आखिरी बार इंग्लैंड के दौरे पर 2018 में गया था। इशांत तब भारत की ओर से सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज थे। उन्होंने 5 विकेट में 18 विकेट झटके थे। फाइनल मैच में टीम को उनके अनुभव का फायदा मिलेगा। ये खिलाड़ी भी न्यूजीलैंड के लिए बड़ी मुसीबत खड़ी कर सकता है।

टिम साउदी

न्यूजीलैंड का ये तेज गेंदबाज पिछले 2 सालों से कमाल के फ्रॉम में हैं। उन्होंने विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (2019-21) में सबसे ज्यादा विकेट लेने वालों की लिस्ट में टॉप-5 में अपनी जगह बनाई है। इस दौरान साउदी ने 10 टेस्ट मैच खेलते हुए 51 विकेट झटके हैं। उनका औसत 20.66 का रहा है। साथ ही इस किवी गेंदबाज ने 3 बार 5 विकेट झटके हैं। विश्व टेस्ट चैंपियनशिप में न्यूजीलैंड के लिए साउदी ने सबसे ज्यादा विकेट लिए हैं। अभी हाल ही इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज में भी ये गेंदबाज कमाल के फ्रॉर्म में था। उन्होंने पहले टेस्ट मैच में 7 विकेट झटके थे। इंग्लैंड की पिचों पर साउदी की स्विंग गेंद बहुत ही खतरनाक साबित होती है। ऐसे में इस धाकड़ गेंदबाज से भारतीय बल्लेबाजों को बच कर रहना होगा।

मोहम्मद शमी

मोहम्मद शमी चोट के बाद भारतीय टीम में वापसी कर रहे हैं। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज में यह खिलाड़ी चोटिल हो गया था। विश्व टेस्ट चैंपियनशिप में शमी का प्रदर्शन कमाल का रहा है। उन्होंने (2019-21) सत्र के दौरान भारत के लिए 10 टेस्ट मैच खेले हैं और उनके नाम 36 विकेट दर्ज हैं। इस जांबाज खिलाड़ी का औसत 19.77 का रहा है। जसप्रीत बुमराह और इशांत शर्मा के साथ इनकी जोड़ी कमाल की रही है। ये गेंदबाज अपनी स्विंग गेंदो के साथ-साथ अपने बांउसर और तेज गती से भी बल्लेबाजों की नींद उड़ा देता है। विलियमसन की टीम को शमी के खिलाफ बचकर खेलना होगा।

काइल जैमीसन

न्यूजीलैंड के इस तेज गेंदबाज ने बहुत ही कम समय में विश्व क्रिकेट पर अपनी छाप छोड़ी है। उन्होंने 2020-21 के दौरान 6 टेस्ट मैच खेले हैं और 36 विकेट झटके हैं। उनका औसत 13.27 का रहा है। विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में वो अपनी लंबाई और तेज गति से भारत के बल्लेबाजों के लिए बड़ा खतरा पैदा कर सकते हैं।  भारत जब न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज  खेलने उनकी धरती पर गया था। तो इस इस खिलाड़ी ने अपनी तेज गेंदबाजी से कहर बरपाया था। साउथैंप्टन के हैंपशायर बाउल की पिच पर विराट कोहली की टीम को इस गेंदबाज से बचकर रहना होगा।


Back to top button