उत्तर प्रदेशख़बर

हनी ट्रैप को आईएस ने बनाया अपना हथियार, निशाने पर है ये जिले ..

Image result for हनी ट्रैप

अमरोहा । आतंकी संगठन आईएस के नए माॅड्यूल हरकत-उल-हर्ब-ए-इस्लाम का पर्दाफाश होने के बाद रोज नए खुलासे हो रहे हैं। एनआईए द्वारा पकड़े गए संदिग्ध आतंकियों को अपने जाल में फंसाने के लिए हनी ट्रैप फार्मूला अपनाया है। सूत्रों का कहना है कि हनी ट्रैप के जरिए आईएस ने पश्चिमी उत्तर प्रदेश से बाहर भी अपने स्लीपर सेल तैयार कर लिए हैं। पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई की वेस्ट यूपी में पहले ही जड़े जमी हुई है। आम आदमी से लेकर सेना के जवान तक आईएसआई के लिए जासूसी करते पकड़े जा चुके हैं। वेस्ट यूपी के मेरठ, गाजियाबाद, नोएडा, बागपत, मुजफ्फरनगर, शामली, बिजनौर, अमरोहा में आईएसआई के एजेंट स्लीपर सेल के रूप में मौजूद हैं। अब भारत में पाकिस्तान के जरिए आतंकी संगठन आईएस (इस्लामिक स्टेट) भी अपने लिए लड़ाके ढूंढ़ने में लगा है और इस अभियान में उसे सफलता भी मिल रही है।

26 दिसम्बर को दिल्ली, हापुड़, मेरठ और अमरोहा में छापेमारी के दौरान एनआईए और एटीएस ने दस आतंकियों को पकड़कर इसका पर्दाफाश किया था। जैसे-जैसे एनआईए की जांच आगे बढ़ रही है, उससे रोज नए खुलासे हो रहे हैं। हनी ट्रैप को बनाया नया हथियार आईएस ने भारतीय युवाओं को अपने पक्ष में करने के लिए हनी ट्रैप को अपना हथियार बनाया है। इंटरनेट पर महिलाओं के जरिए युवाओं का ब्रेन वाॅश करके उन्हें आतंक की दलदल में धकेला जा रहा है। सूत्रों का कहना है कि एनआईए द्वारा पकड़े गए अमरोहा के हाफिज सुहैल को भी हनी ट्रैप के जरिए फंसाया गया और उसने ही हरकत-उल-हर्ब-ए-इस्लाम संगठन की नींव डाली।

इसके बाद सुहैल की मदद से दूसरे युवाओं को हनी ट्रैप में फंसाकर उनका भी ब्रेन वाॅश किया गया। एनआईए इस पहलू की गहराई से पड़ताल कर रही है। महिलाओं के जाल में आसानी से फंसते हैं युवा सोशल मीडिया नेटवर्क पर महिलाओं के जाल में युवा आसानी से फंस रहे हैं। आतंकी संगठनों के इशारे पर काम करने वाली महिलाएं युवाओं को अपने जाल में फंसाकर आसानी से उनका ब्रेन वाॅश कर दिया जाता है। ऐसा ही अमरोहा कनेक्शन में हुआ। सुहैल के संपर्क में आने के बाद बाकी संदिग्धों का भी हनी ट्रैप के जरिए ब्रेन वाॅश किया गया। सोशल नेटवर्क पर सक्रिय इन महिलाओं का अमरोहा कनेक्शन भी तलाशा जा रहा है। अमरोहा की कई महिलाएं पकड़ी जा चुकी सूत्रों का कहना है कि चार साल पहले अमरोहा की एक महिला हसीना बानो को पिस्टल व कारतूस के साथ पाकिस्तान के अटारी बाॅर्डर पर पकड़ा गया था। महिला से अमरोहा के पते पर बना पासपोर्ट भी बरामद हुआ था। छह साल पहले समझौता एक्सप्रेस से सुरक्षा एजेंसियों ने एक महिला पाकीजा खातून से दस लाख रुपये की नकली करेंसी बरामद की थी। यह महिला अमरोहा के रजबपुर की निवासी थी।

Back to top button