देश

भूखी-प्यासी मां ने तड़प-तड़प काटे तीन दिन, बच्चे ने जैसे ही देखा, तो सब हो गए जज्बाती

कुछ खबरें ऐसी होती हैं, जिन पर भरोसा करना नामुमकिन सा  होता है.मगर जब बात सामने आती है तो दिमाग भी काम करना बंद कर देता है. ऐसा ही कुछ यहाँ पर हुआ  ये मामला  हरियाणा के हिसार से सामने आया है जहाँ एक  60 फीट गहरे बोरवेल में गिरे मासूम नदीम को सही सलामत  बाहर निकाल लिया गया है। बताते चले मासूम शुक्रवार शाम एक सुरक्षित रेस्क्यू किया गया है। बता से करीबन  47 घंटों तक चले इस रेस्क्यू ऑपरेशन में  सेना, एनडीआरएफ और स्थानीय प्रशासन की मदद से  बच्चे को बाहर निकला गया। बच्चे को बोरवेल से बाहर निकालने के बाद इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

खबरों के अनुसार घटना 20 मार्च की शाम को हुई थी। करीब 24 घंटे सेना और NDRF की मदद से रेस्क्यू चला। इस दौरान मां पास में बैठी भगवान से दुआ करती रही। बच्चे को सुरक्षित निकाला गया, लेकिन उसने आंखें नहीं खोलीं। करीब 3 दिन बाद जब बच्चे को होश आया, तो खुशी से मां की आंखें झर-झर बह पड़ीं।  -बालसमंद गांव के रहने वाले नदीम को सोमवार को होश आया, तो डॉक्टरों ने राहत की सांस ली। नदीम सर्वोदय हॉस्पिटल के ICU में भर्ती है। बच्चे के आंखें खोलते ही उसे नली से दूध और जूस पिलाया गया। इस दौरान मां पास खड़ी-खड़ी रोती रही…ईश्वर को धन्यवाद देती रही।
-हॉस्पिटल के डायरेक्टर डॉ. उमेश कालरा के मुताबिक, नदीम का इन्फेक्शन और निमोनिया का असर कम हो रहा है। अब वो खतरे से बाहर है।

Back to top button