जरा हट के

दो मर्द बन गए एक-दूसरे के दूल्हे, निभाईं हल्दी से लेकर वरमाला तक की रस्में

भारत में बेशक समलैंगिक विवाह को कानूनी मान्यता नहीं मिली है लेकिन कुछ कपल्स ऐसे हैं जो इस तरह की विवाह करने की हिम्मत रखते हैं. ऐसा ही कदम उठाया महाराष्ट्र के रहने वाले ऋषि सथावने ने.
उन्होंने अपने वियतनाम के रहने वाले पार्टनर विन्ह से अपने गांव यवतमाल में विवाह कर ली. वैसे तो ऋषि पिछले दो दशकों से अमेरिका में रह रहे हैं लेकिन महाराष्ट्र के यवतमाल में विवाह करना उनका सपना था जिसे उन्होंने साकार किया.
ऋषि और विन्ह की विवाह में 100 लोग अतिथि बनकर शामिल हुए थे. जिसमें रिश्तेदार, दोस्त व स्कूल टीचर शामिल थीं. उन्होंने हल्दी से लेकर वरमाला तक की रस्में निभाईं. अच्छा वैसे ही जैसे कि हर इंडियन विवाह में होता है. इसके अतिरिक्त दोनों ने बॉलीवुड के गानों पर डांस भी किया. सथावने की तरह बहुत से सेम सेक्स (समलैंगिक) कपल उस राष्ट्र में विवाह कर रहे हैं, जहां ऐसा करना कानूनी तौर पर आपराधिक माना जाता है.
इसके बावजूद दोस्तों व परिवार की मदद से कुछ लोग बहादुरी दिखाकर इस तरह की विवाह के बंधन में बंधते हैं. विन्ह व सथावने कैलिफोर्निया में रहते हैं व वह अनाथ बच्चों को गोद लेने की प्रक्रिया प्रारम्भ कर चुके हैं. ऋषि का कहना है कि अगर दो लोग साथ में अपनी जिंदगी बिताना चाहते हैं तो किसी को इससे क्या कठिनाई है.
Back to top button