ख़बरदेश

मिल गए राहुल के घर के भेदी, यही वजह हैं मोदी की प्रचंड जीत की !

Image result for मोदी राहुल

। यह बात कांग्रेस कार्यकर्ताओं को बुरी लग सकती है कि अनेक कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने पार्टी गाइड लाइन से हटकर नरेंद्र मोदी को वोट दिया। उनका चर्चा में दावा था कि उन्होंने भाजपा को वोट नहीं किया, बल्कि राष्ट्रवाद के नाम पर नरेंद्र मोदी को वोट दिया और यही चर्चा आज घर से लेकर चाय की गुमटियों तक हो रही है। ऐसे लोगों में अनेक वरिष्ठ कांग्रेसी रहे वहीं कांग्रेस समर्थकों का वह वर्ग भी रहा जो उम्र के 60 वसंत पूरे कर चुका है। उनके अनुसार- वैश्विक परिदृश्य में इंदिरा गांधी की तरह आक्रामक शैली वाला नेता नरेन्द्र मोदी के अलावा वर्तमान में देश में दूसरा कोई नहीं है।

 

गौरतलब है कि कांग्रेस का जातिगत राजनीतिक समीकरण भी इस बार उज्जैन सहित पूरे सूबे में फेल हो गया। वहीं भाजपा का वोट प्रतिशत तेजी से बढ़ा। अनेक कांग्रेस कार्यकर्ताओं और कुछ उम्रदराज कांग्रेस नेताओं से बात की गयी तो वे बात करते हुए पहले संकुचाए। जब नाम प्रकाशित नहीं करने की बात कही गई तो वे परत दर परत खुलने लगे।

 

कांग्रेस में इंदिरा गांधी आक्रामक नेता थी। जिन्होंने देश की शान के लिए समझौता किए बगैर बांग्लादेश का निर्माण करवा दिया। दूसरे ऐसे नेता नरेद्र मोदी हैं जिन्होंने सर्जिकल स्ट्राइक करके पड़ोसी देश पाकिस्तान को बता दिया कि भारत की तरफ उठने वाली हर तिरछी नजर का अंजाम ऐसा ही होगा। जब बात राष्ट्रवाद की हो तो देश को सशक्त नेतृत्व की आवश्यकता होती है। इसीलिए उन्होंने पार्टी न देखते हुए केवल मोदी के नाम पर वोट किया।

 

कुछ उम्रदराज कांग्रेस नेताओं का कहना था कि कांग्रेस के वर्तमान नेतृत्व को परिपक्व होने की आवश्यकता है। ऐसे में अपरिपक्व हाथों में सत्ता देने पर वर्तमान की युवा पीढ़ी का भविष्य अंधकार में धकेलने जैसा होता। यही कारण है कि उन्होंने इस बार अपनी युवा पीढ़ी के तर्कों से सहमत होकर मोदी के पक्ष में वोट किया।

 

शहर के कुछ कांग्रेस विचारधारा वाले व्यापारियों ने चर्चा में कहा कि भाजपा के शासनकाल में विकास की दर बढ़ी है। यह अभी तक जिन्हें दिखाई नहीं दे रही थी वे आने वाले दो साल में स्वयं कहने लग जाएंगे। चूंकि बात देश के विकास की थी और कांग्रेस में विकल्प कमजोर था इसलिए उन्होंने नरेन्द्र मोदी को वोट दिया।

 

देश की आजादी से जुड़े कुछ परिवारों ने चर्चा में कहा कि वो जमाना अब बीत गया। तब देश अविकसित से विकासशील की तरफ बढ़ रहा था। अब हाईटेक जमाना आ गया है। विदेश नीति का इसमें बड़ा महत्व है। ऐसे में स्थिर सरकार ही देश के अस्तित्व को बचा सकती है। यही कारण रहा कि उन्होंने नरेन्द्र मोदी को राष्ट्र के विकास के नाम पर वोट दिया।

Back to top button