देश

राहुल के ‘न्याय’ की तारीफ में बोले रघुराम राजन- क्रांतिकारी है स्कीम

RBI के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन ने कांग्रेस की न्यूनतम आय गारंटी योजना की तारीफ की है. उन्होंने कहा, यह योजना लागू करने लायक है. इसके साथ ही रघुराम राजन ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के उस दावे की भी पुष्टि की है जिसमें राहुल ने कहा था, न्यूनतम आय गारंटी के लिए उनसे सलाह ली गई है.

दरअसल 25 मार्च को राहुल गांधी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर ऐलान किया था, अगर कांग्रेस की सरकार बनती है तो देश के 20 प्रतिशत गरीबों को सालाना 72 हजार रुपये सीधे खाते में दिये जाएंगे. इससे करीब 5 करोड़ गरीबों को लाभ मिलेगा. राहुल गांधी ने जयपुर में एक चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए कहा था, हमने न्यूनतम आय गारंटी के संबंध में पूर्व गवर्नर रघुराम राजन समेत बड़े अर्थशास्त्रियों से 6 महीने तक बात की.

कांग्रेस की इस योजना पर 3.6 लाख करोड़ रुपये की लागत आएगी, जो भारत के राजकोषीय घाटे का तीन गुना, रक्षा बजट का छह गुना और कॉरपोरेट टैक्स से होने वाली आय का दोगुना है. हालांकि अन्य अर्थशास्त्रियों और नीति नियंताओं ने कांग्रेस की इस योजना पर सवाल खड़े किए हैं, जबकि रघुराम राजन का कहना है, इस योजना के लिए राजकोषीय गुंजाइश बनाने की जरूरत है. उन्होंने कहा, उन योजनाओं के लिए गुंजाइश बनाने की जरूरत है, जो वास्तव में असरदार हैं.

रघुराम राजन ने कहा, अगर कांग्रेस पार्टी इस स्कीम को सही तरीके से लागू करती है तो ये क्रांतिकारी कदम होगा. लोगों को अपने वित्तीय फैसले लेने की आजादी मिलेगी. गरीबी पर सीधा हमला होगा और देश में गरीबी की परिभाषा ही बदल जाएगी. हालांकि उन्होंने ये भी कहा, इस तरह के खर्च के लिए भारत का वर्तमान वित्तीय ढांचा पूरी तरह तैयार नहीं है. चुनाव के बाद सरकार को चाहिए कि वित्तीय ढांचे को देखते हुए इस स्कीम का फिर से आंकलन किया जाए.

 

Back to top button