क्राइम

फांसी के फंदे पर लटके मिले भाजपा नेता, सुसाइड नोट में मोदी सरकार को बताया जिम्मेदार !

कुछ खबरें ऐसी होती हैं, जिन पर भरोसा करना नामुमकिन सरीखा होता है. ज्यादातर ऐसी खबरें रिश्तों को शर्मसार करने वाली होती हैं, जिनके बारे में जानकर सबका सिर शर्म से झुक जाता है. इस खौफनाक मामला ने लोगो को होश उड़ा दिए. ये मामला यूपी  के मेरठ सामने आगया है. बताते चले भाजपा  के पूर्व पार्षद ने रविवार दोपहर फांसी का फंदा लगाकर खुदकुशी कर ली. मिली जानकारी के मुताबिक पुलिस को मौके पर एक सुसाइड नोट बरामद हुआ, इस सुनाइड नोट में खुलासा हुआ है कि वह नोटबंदी के बाद से काफी परेशान था, जिसकी वजह से उसे ये कदम उठाना पड़ा. इस मामले में पुलिस ने सुसाइड नोट कब्जे में लेकर जांच शुरू कर दी है.

जानिए इस मामले में क्या कहते है एसपी सिटी अखिलेश नारायण

चांदी के थोक कारोबारी थे सतीश

इस घटना के बारे में मेरठ पुलिस के एसपी सिटी अखिलेश नारायण सिंह ने बताया कि मृतक नेता की पहचान सतीश चंद के रूप में हुई है, जिसकी उम्र करीब 50 साल है. सतीश चंद के पिता का नाम श्री राम बताया गया है.\

4 पन्नों का सुसाइड नोट मिला

फ्लैट में फांसी से लटकता मिला शव

एसपी सिटी के अनुसार मृतक सतीश चंद के पास से 4 पेज का एक सुसाइड नोट भी मिला है. हालांकि उन्होंने यह नहीं बताया कि पार्षद ने अपने सुसाइड नोट में वजह क्या लिखी है. सुसाइड नोट के बारे में पूछे जाने पर एसपी सिटी ने केवल इतना ही बताया कि सुसाइड नोट का परीक्षण कराया जा रहा है, उसके बाद ही कुछ कहा जा सकेगा.

उधर टीपी नगर थाना पुलिस के अनुसार क्षेत्र स्थित वंडर सिटी सेकंड कॉलोनी स्थित एक खाली फ्लैट में रविवार की दोपहर बीजेपी के पूर्व पार्षद का शव संदिग्ध हालात में फंदे से लटका शव मिला है. पुलिस को मौके से 4 पेज का सुसाइड नोट, शराब की बोतल और सिगरेट आदि बरामद हुए हैं.

चांदी के कारोबारी थे सतीश चंद

शहर के भगवतपुरा निवासी सतीश चांदी के थोक कारोबारी थे. परिवार में पत्नी उषा और एक गोद ली हुई बेटी वर्षा हैं.

Back to top button