ख़बरदेश

VIDEO : सूरत में मौत की आग, कोचिंग में जिंदा जले 20 छात्र, जान बचाने को बिल्डिंग से लगाई छलांग

सूरत। गुजरात में सूरत शहर के सरथाणा क्षेत्र में शुक्रवार को एक इमारत के ट्यूशन क्लास में अचानक भीषण आग लग गयी। हादसे में 20 बच्चों की मौत हो गई है  । आपातकालीन सेवा 108 के कर्मी ने बताया कि भीषण आग के घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बताया जा रहा है कि यह एक व्यावसायिक इमारत है जिसका नाम तक्षशिला है। इसमें कोचिंग सेंटर चल रहा था और इसमें बड़ी संख्या में बच्चे मौजूद थे। अचानक लगी आग के बाद बच्चे इमारत की तीसरी मंजिल पर फंस गए। आग इतनी तेजी से फैली की बच्चों को बाहर निकलने का कोई रास्ता नहीं मिला और सभी तीसरे माले पर फंस गए. इस दौरान कई बच्चे धुंए के कारण वहीं बेहोश हो गए।

बाद में जान पर बनती देख बच्चों ने इमारत से छलांग लगाना शुरू किया। कई बच्चे बिना किसी सहारे के सीधे नीचे कूद गए। इससे करीब 20  बच्चों की मौत हो गई. वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस हादसे पर दुख जताया है और गुजरात सरकार को फौरन राहत पहुंचाने के आदेश दिए हैं सूचना मिलते ही दमकल की 21 गाडियों के साथ दमकल कर्मी मौके पर पहुंचे। दमकल कर्मी भवन में फंसे ट्यूशन क्लास के विद्यार्थियों को बचाने और आग बुझाने में लगे हुए हैं।

हालांकि आग लगने की क्या वजह है, यह अभी नहीं साफ हो पाया है। गुजरात के मुख्यमंत्री कार्यालय ने बयान जारी कर कहा, ‘मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने आग की घटना की जांच के आदेश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने घटना में जान गंवाने वाले हर छात्र के परिवार को 4 लाख रुपये की आर्थिक मदद देने का ऐलान किया है।’ \

घटना पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जताया दुख

इस घटना पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी गहरा दुख व्यक्त किया है। उन्होंने कहा, ‘सूरत में आग की घटना से बेहद व्यथित हूं। मृतकों के परिवार के प्रति मेरी गहरी संवेदना है। मैंने गुजरात सरकार और स्थानीय प्रशासन से प्रभावित लोगों को हरसंभव मदद देने के लिए कहा है।’

आग के वक्त बिल्डिंग में मौजूद थे 50 से ज्यादा छात्र
मौके पर फायर ब्रिगेड की 18 गाड़ियां मौजूद हैं और आग बुझाने का प्रयास कर रही हैं। आग के वक्त बिल्डिंग में 50 से ज्यादा बच्चे और टीचर मौजूद थे। मृतकों का आंकड़ा बढ़ सकता है। ज्यादातर छात्रों की मौत घबराहट में बिल्डिंग से छलांग लगाने की वजह से हुई है।

 

Back to top button