गैजेट ज्ञान

फेक न्यूज पर फेसबुक कसेगा लगाम, रोकने को पत्रकार किए जाएंगे तैनात

पिछले कुछ सालों में सोशल मीडिया के जरिए फर्जी खबरों के फैलने का दौर अपने चरम पर है. फेसबुक पर ढेरों फेक आईडी मौजूद हैं, बहुत से फेसबुक पेज हैं जो ऊलजलूल झूठी पोस्ट करते हैं, और लोग इन बातों को सच मान लेते हैं. नतीजा ये कि लोगों में गलतफहमी और आपसी बैर बढ़ता जा रहा है. इन बढ़ती अफवाहों को रोकने के लिए फेसबुक ने तमाम कोशिशें की मगर रिजल्ट कुछ खास नहीं मिल पाया है. बावजूद इसके एक बार फिर फेसबुक ने कुछ नया सोचा है.

सोमवार को फेसबुक के सीईओ मार्क जुकरबर्ग ने कहा कि इस प्लेटफॉर्म पर अपने दो अरब यूजरों के लिए और ज्यादा उच्च गुणवत्ता की खबरें कैसे दी जाए, इस दिशा में कदम उठाया जाएगा. मार्क जुकरबर्ग ने कहा, “मुझे नहीं पता कि आपके हिसाब से फेसबुक पर कितने फर्जी खाते हैं, लेकिन यह बहुत बड़ी संख्या प्रतीत होती है. कुछ लोग कहते हैं 70 करोड़ हैं. मुझे बिल्कुल नहीं पता, लेकिन इससे बेहद गंभीर समस्या की तरह निपटना होगा.”

उन्होंने कहा, “हमें कुछ पत्रकारों, संवाददाताओं और बड़े विदेशी नेटवर्क्सग को यह काम देना होगा और वे यह काम निशुल्क नहीं करेंगे.” जुकरबर्ग ने कहा कि वे यह सुनिश्चित करने पर ध्यान देंगे कि फेसबुक पर सैकड़ों, हजारों पत्रकारों, ब्लॉगरों, डिजिटल स्थानीय प्रकाशकों को क्या आकर्षित करता है कि वे प्लेटफॉर्म पर अपना सर्वश्रेष्ठ कंटेंट साझा करते हैं.

फेसबुक की इस मुहिम में ऐसे पत्रकारों को शामिल किया जाएगा जो टेक्नोलॉजी से अपग्रेड रहते हैं. याने जिन्हें फेसबुक, दूसरे सोशल प्लेटफॉर्म, स्मार्टफोन और इंटरनेट की पूरी जानकारी हो. इस मुहिम के जरिए पत्रकार फेसबुक में फैल रही अफवाहों की पड़ताल करेंगे और उस खबर से जुड़ी सही रिपोर्ट देंगे. इसके साथ ही पत्रकार फर्जी आईडी की जानकारी जुटाएंगे. पत्रकारों का काम सिर्फ और सिर्फ झूठी खबरों को रोकना होगा.

Back to top button