देशराजनीति

चुनावी संग्राम : जीत से गदगद कुमार स्वामी ने बनाया “प्लान 28”

कर्नाटक की तीन लोकसभा और दो विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव के नतीजे मंगलवार को आए। भाजपा का गढ़ मानी जाने वाली बेल्लारी लोकसभा सीट पर कांग्रेस के वीएस उगरप्पा को 2,43,161 वोटों से जीत मिली। इसे लेकर कांग्रेस और जेडीएस की ओर से प्रतिक्रिया आना शुरू हो गई है। बीजेपी के लिए जहां ये परिणाम किसी झटके की तरह हैं, वहीं कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता सिद्धारमैया ने इसे जनता का दिवाली गिफ्ट बताया है।

कर्नाटक सीएम व जेडीएस नेता एचडी कुमारस्वामी ने इस जीत को केवल एक शुरुआत बताया। कुमारस्वामी ने कहा, ‘यह चुनाव पहला कदम है। राज्य में 28 लोकसभा सीटें हैं, हम उन सभी को जीतने के लिए कांग्रेस के साथ काम करेंगे और यह हमारा लक्ष्य है।’ उन्होंने कहा, ‘यह सिर्फ हमारी जीत नहीं है क्योंकि हमने आज जनता का विश्वास जीता है। यह लोगों का हमपर विश्वास है, यह जीत हमें घमंडी नहीं बनाएगी।’

फैसले पर कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने कहा, ‘बेल्लारी में गठबंधन की जीत अहम है। कांग्रेस मुक्त भारत जो लोग बोलते थे उन्हें जवाब मिल गया है। लोगों ने बीजेपी के नकार दिया है और यह जीत कांग्रेस-जेडीएस को दिवाली का तोहफा है।’ पूर्व मुख्यमंत्री ने दावा किया कि कांग्रेस अगले साल लोकसभा चुनाव में कांग्रेस 20 सीट से अधिक सीटें जीतेगी। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि यह जीत कांग्रेस के पुनरुत्थान की तरह है।

कांग्रेस नेता डी शिवकुमार ने कर्नाटक की जनता का स्वागत किया। उन्होंने कहा कि जनता का यह फैसला बीजेपी को जवाब है जो उपचुनाव से पहले अपनी जीत का दावा ठोक रही थी। खासकर बेल्लारी सीट, जो बीजेपी नेता श्रीरामुलू का गढ़ जानी जाती है। यहां से उनकी बहन शांता उम्मीदवार थीं।

जेडीएस-कांग्रेस मिलकर लड़े थे चुनाव
कर्नाटक में सत्तारूढ़ जेडीएस और कांग्रेस गठबंधन ने सूबे में तीन लोकसभा और दो विधानसभा सीटों पर होने जा रहे उपचुनाव में साथ मिलकर लड़ने का ऐलान किया था। फैसले के मुताबिक कांग्रेस बेल्लारी और शिमोगा लोकसभा क्षेत्रों और जेडीएस मांड्या लोकसभा क्षेत्र में उपचुनाव लड़ने उतरी थी। वहीं विधानसभा उपचुनाव में कांग्रेस जामखंडी और जेडीएस रामनगर से चुनाव मैदान में उतरी थी।

Back to top button