ख़बरदेश

7 दिन पहले जिस राज्य में डल गए वोट, वहां के बीजेपी अध्यक्ष पर चुनाव आयोग ने अब लगाई रोक

जिस सूबे में एक हफ्ते पहले मतदान संपन्न हो चुका है, अब चुनाव आयोग ने वहां के एक नेता के चुनाव प्रचार करने पर पाबंदी लगाई है. ऐसे में बड़ा सवाल ये उठता है कि इस पाबंदी का क्या असर होगा?

चुनाव आयोग ने भाजपा की गुजरात इकाई के प्रमुखजीतूभाई वघानी को एक चुनावी सभा में अभद्र भाषा का इस्तेमाल करने के कारण उनको 72 घंटे के लिए प्रचार करने से रोक दिया है. वघानी पर आदर्श आचार संहिता के उल्लंाघन के बाद यह कार्रवाई की गई है. उन पर प्रतिबंध दो मई को शाम चार बजे से लागू होगा.

दरअसल, 7 अप्रैल को जीतू वघानी अमरोली में थे. यहां वे बीजेपी उम्मींदवार के ऑफिस का उद्घाटन करने गए थे. अपने संबोधन में उन्होंीने एक समुदाय विशेष के खिलाफ अपमानजनक टिप्पीणी की थी. उन्हों्ने कहा था, “इन **** लोगों को पहचानें. जिनके पास पापी दिमाग हैं और केवल लोगों को परेशानी देना चाहते हैं. ऐसे लोगों को पहचानें और कमल पर बदन दबाएं.”

इसी बयान की वजह से वघानी पर यह प्रतिबंध लगाया गया है. बैन लागू होने के अगले 72 घंटों तक जीतूभाई वघानी “देश के किसी भी हिस्सेर में” सार्वजनिक सभा, जुलूस, रोड शो, इंटरव्यूो और मीडिया में बयान नहीं दे सकते हैं. दिलचस्पह यह है कि गुजरात में लोकसभा चुनाव के तीसरे चरण के तहत, 23 अप्रैल को ही मतदान हो चुका है.

 

Back to top button