उत्तर प्रदेश

यूपी ; नशे में धुत महिला वकील ने दौड़ाई कार, फिर थाने में काटा बवाल

आरोपी महिला वकील

मेरठ. भाजपा पार्षद के होटल में दरोगा की पिटाई के मामले से सुर्खियों में आई महिला वकील ने बुधवार रात शराब पीकर फिर हंगामा किया। महिला ने तेज रफ्तार में गाड़ी दौड़ा दी और कई वाहनों को टक्कर मारे, जिससे कई लोग घायल हुए हैं। सूचना पाकर पहुंची पुलिस ने महिला वकील को हिरासत में लिया तो उसने हंगामा करना शुरू कर दिया। बताया जाता है कि महिला ने थाने से भी भागने की कोशिश की।

यह वही महिला है, जो 20 अक्टूबर को भाजपा पार्षद के होटल में दरोगा से मिलने गई थी। इस दौरान दरोगा का भाजपा पार्षद से विवाद हो गया था। विवाद इतना बढ़ गया था कि भाजपा पार्षद ने दरोगा को पांच थप्पड़ जड़ दिए थे, जिसका वीडियो वायरल हो गई थी।

इंस्पेक्टर को धमकी देती रही महिला: पुलिस कर्मियों ने उसे थाने में बैठने को कहा तो वह उन्हें धमकाने लगी। बोली जानते नहीं मैं कौन हूं, पार्षद को जेल भिजवा चुकी हूं। महिला ने इंस्पेक्टर देवेश कुमार से भी अभद्रता की। इंस्पेक्टर को भाजपा का एजेंट बताया। जिला अस्पताल में भी महिला वकील ने हंगामा किया। पुलिस कर्मियों ने उसे रोकने का प्रयास किया तो उनके साथ हाथापाई की। देर रात तक चले हंगामे के बाद पुलिस ने महिला को गिरफ्तार कर लिया।

ठीक से खड़ी नहीं हो पा रही महिला: मेडिकल जांच में उसके शराब पीने की पुष्टि हुई है। जिला अस्पताल के डॉक्टर यशवीर सिंह के मुताबिक प्रथम दृष्टया अल्कोहल की दुर्गंध की पुष्टि हुर्ह है, कितनी शराब पी रखी है, इसकी जांच के लिए ब्लड सैंपल लिया गया है।

महिला ने कहा कि उसे मारने की नीयत से लोगों ने कार में टक्कर मारी। पार्षद के इशारे पर लोग मेरे पीछे लगे हैं। अपनी सुरक्षा को लेकर मैं एसएसपी से भी मिली थी। शराब पीने के कारण महिला ठीक से खड़ी नहीं हो पा रही थी।

पुलिस ने दर्ज किए दो मामले:

महिला द्वारा हंगामा किए जाने के बाद पुलिस ने इस मामले में दो केस दर्ज किए। एक केस जिस कार को टक्कर मारी उसके मालिक बृजेश चौधरी ने दर्ज कराया है जबकि दूसरा केस पुसिल की ओर से दर्ज कराया गया है। एएसपी कैंट सतपाल सिंह के मुताबिक इंस्पेक्टर से अभद्रता और हाथापाई के मामले में इंस्पेक्टर लालकुर्ती की ओर से केस दर्ज कराया गया है। महिला को रात में ही गिरफ्तार कर लिया गया था, उसे कोर्ट में पेश किया जाएगा।

 

Back to top button