सेहत

सावधान ! दूध पीने के बाद खाते हैं ये चीज़ें तो हो सकते हैं सफ़ेद दाग के शिकार

आपने अपने आस पास बहुत से ऐसे लोगों को देखा होगा जो की सफ़ेद दाग की समस्या से ग्रसित होते हैं. कुछ लोगों के सिर्फ शारीर के कुछ ही भागों पर सफ़ेद दाग होता है तो कुछ लोगों के पूरे शारीर पर सफ़ेद दाग होता है. हमारे समाज में कुछ लोग सफ़ेद दाग होने की वजह कुछ अन्य चीजें भी मानते हैं लेकिन आज हम आपको सफ़ेद दाग होने के असली कारण के बारे में बताने जा रहे हैं जो की असल में दूध पीने के कुछ गलत तरीकों की वजह से भी हो सकती है. तो आईये जानते हैं की आखिर दूध पीने का वो कौन सा गलत तरीका है जिस वजह से आप सफ़ेद दाग के शिकार हो सकते हैं.

शारीर में इन कोशिकाओं के नष्ट होने की वजह से होता है सफ़ेद दाग

आपको बता दें की जो लोग ये समझते हैं की सफ़ेद दाग लोगों के द्वारा गलत काम करने या फिर किसी अन्य वजह से होता है उन लोगों के लिए ये जानना बेहद जरूरी है की सफ़ेद दाग होने के पीछे असली वजह है शारीर में रंग प्रदान करने वाली कोशिकाओं का नष्ट हो जाना जिस वजह से शारीर का रंग सफ़ेद हो जाता है. बता दें की जब शारीर में रंग भरने वाले टिश्यू नष्ट हो जाते हैं तो शारीर में सिर्फ सफ़ेद सफ़ेद रंग बचता है और इसे शारीर के अलग अलग हिस्सों पर सफ़ेद दाग जैसा बन जाता है. पहले डॉक्टर्स भी इस सफ़ेद दाग के होने के पीछे की वजह नहीं बता पाते थे की आखिर ये होता क्यूँ है लेकिन बहुत सारे रिसर्च के बाद इस बात का पता चल पाया की असल में ये सफ़ेद दाग इंसान के शारीर में दूध पीने के गलत तरीकों की वजह से हो सकता है. इसके अलावा ये जानना भी बेहद आवश्यक है की शारीर में रंग भरने वाले जो कोशिकाएं होती हैं वो केवल पैर के तलवों, हाथों की हथेलियों और पलकों पर नहीं होते हैं इसलिए इन सभी भाग का रंग सफ़ेद होते हैं और बाकी शारीर का रंग इन अंगों से अलग होता है लेकिन जब शारीर में रंग भरने वाले इन कोशिकाओं का किसी वजह से खात्मा हो जाता है या फिर ये काम करना बंद कर देते हैं तो शारीर का रंग सफ़ेद हो जाता है और शारीर में सफ़ेद धब्बे पड़ जाते हैं.

इन कारणों से होता है रंग भरने वाले कोशिकाओं का खात्मा

आपको बता दें की शारीर में रंग भरने वाले इन कोशिकाओं का खात्मा अमूमन तौर पर शारीर में विटामिन बी 12, जिंक और कैल्शियम आदि की कमी की वजह से भी होता है. इसके अलावा एक अनियमित लाइफस्टाइल की वजह से भी शारीर में ये सफ़ेद दाग होते हैं. इसके अलावा शारीर में सफ़ेद दाग होने के पीछे एक वजह ये भी हो सकती है और वो है जेनेटिक कहने का मतलब ये हैं की अगर किसी के परिवार में पहले किसी को ये रोग हुआ हो तो संभव है की उससे जुड़े व्यक्ति को भी ये रोग हो सकता है. इन सब कारणों से ऊपर उठकर शारीर में सफ़ेद दाग होने का सबसे बड़ा कारण है की अगर आप दूध पीने के बाद किसी नमक युक्त पदार्थ का सेवन करते हैं तो ये भी शारीर में सफ़ेद दाग होने का सबसे बड़ा कारण बनता है. इसलिए ऐसा कहा जाता है की कभी भी दूध पीने के बाद किसी भी नमक युक्त पदार्थ का सेवन नहीं करना चहिये. इसके अलावा कभी मछली खाने के बाद दूध नहीं पीना चहिये क्यूंकि ये भी शारीर में सफ़ेद दाग होने का कारण बनता है. इसके साथ दही खाने के बाद भी दूध नहीं पीना चहिये और कभी भी कोई नामक युक्त पदार्थ खाने के बाद दूध नहीं पीना चाहिए क्यूंकि इससे भी सफ़ेद दाग होने की संभावना बढ़ जाती है. इसके अलावा आपको बता दें की जिंक की कमी की वजह से सफ़ेद दाग होता है इसके लिए आप ताम्बे के लोटे में पानी रखकर उसे पी सकते हैं इससे शारीर में जिंक की पूर्ती होती है.

Back to top button