सेहत

इस संकेत को ना समझें मामूली, वक्त पर न हुआ इलाज तो पानी तक न पी सकेंगे आप

इस दुनिया में हर एक इंसान को कोई न कोई दिक्‍कत का सामना हमेशा ही फेश करना पड़ता है, हालांकि कुछ दिक्‍कतों को बढ़ावा देने में हमी लोग सहयोग करने लगते है। जैसे कि आज की तनावपूर्ण जीवनशैली और शौक में लोगों ने नशे को अपना एक साथी बना लिया है। शुरुआती दिनों का शौक धीरे-धीरे लत बन जा रहा है और ये लत लोगों को धीरे-धीरे मौत के मुंह तक ले जा रही है। जिले में बढ़ रहे प्रदूषण और धूम्रपान के साथ कैंसर रोगी भी बढ़ते जा रहे हैं, आज हम कैंसर के कुछ संकेतों के संबंध में खास जानकारी देने वाले है।

कैंसर एक बहुत ही खतरनाक बीमारी है, जिसकी चपेट में आने से बहुत सारे लोगों की जान जा चुकी है। आज दुनिया में सबसे ज्यादा मरीज इसकी चपेट में है। कैंसर के प्रति जागरूकता जगाने के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन ने हर साल 4 फरवरी को विश्व कैंसर दिवस के रूप में मनाने का निर्णय लिया ताकि लोग इस खतरनाक बीमारी से खुद की रक्षा करें और कोई दूसरा व्यक्ति इस बीमारी से प्रभावित न हो।

इस बीमारी के बारे में कम पता होने की वजह से हम इस बीमारी को सही स्टेज पर नहीं पहचान पाते, जिस कारण मरीज को बचाना मुश्किल हो जाता है। आज हम आपको कैंसर के उन्हीं लक्षणों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिनपर ध्यान दिए जाने की जरूरत है। यह नई जानकारी एक शोध में बताई गई है।

 

आपकी जानकारी के लिये बता दे कि भारत के साथ ही साथ मध्य प्रदेश में भी मुंह के कैंसर की बीमारी तेजी से फैल रही है। देश में तंबाकू उत्पादों का सेवन करने से हर वर्ष 10 लाख लोग जान गंवा देते हैं, वहीं अगर बात मध्य प्रदेश की करें तो यह आंकड़ा 66 हजार तक पंहुच गया है,  इसके बचाव के लिये,  संभावित कैंसर के लक्षणों के संबंध में तीव्र रूप से अवगत होना आवश्‍यक है और किसी चिकित्सक द्वारा विकसित होने पर मूल्यांकन किया जाना चाहिए।

कैंसर से लड़ने का सबसे अच्छा तरीका रोकथाम और शीघ्र पहचान के द्वारा होता है। हालांकि कैंसर अधिकतर लोगों को कोई संकेत नही देता है, पर आज हम इसके कुछ संकेतों के संबंध में बात करने वाले है, जो सामान्‍य तौर पर कुछ इस प्रकार से है…….

पेशाब में खून

अगर मूत्र में खून निकलें तो ब्लाडर या किडनी का कैंसर हो सकता है लेकिन यह केवल इंफैक्शन भी हो सकता है। अच्छा रहेगा कि आप डॉक्टरी सलाह जरूर ले लें।

कफ या गले में खिचखिच

अगर गले में काफी लंबे समय से खराश की समस्या बनी रहती है और खांसने पर खून भी आता है तो सावधानी बरते। जरूरी नहीं है कि यह कैंसर ही हो लेकिन ज्यादा देर तक कफ बना रहे तो सावधानी बरते।मुंह में बार बार छाले निकलना भी एक बड़ा संकेत है मुंह के कैंसर का |

अगर घाव ना भरे

अगर जख्म 3 हफ्ते के बाद भी नहीं भरता तो डॉक्टर को दिखाना बहुत ही जरूरी है।

वजन घटना

वयस्कों का वजन आसानी से नहीं घटता लेकिन अगर आप बिना किसी कोशिश के दुबले होते जा रहे हैं तो जरूर ध्यान देने की बात है। यह कैंसर का संकेत हो सकता है।(कुछ महीनों में 5 किलोग्राम / 10 एलबीएस)

 तिल जैसा निशान

आपकी त्वचा या एक मौजूदा तिल (जैसे खुजली, रक्तस्राव या आकार या रंग में परिवर्तन) में परिवर्तन| आपके शरीर पर कहीं भी एक गांठ का होना |

Back to top button