बड़ों की बातें

क्या आप जानते है माहिलाओ के प्राइवेट पार्ट से जुड़ी ये खास बात ?

Image result for महिलाओं के प्राइवेट पार्ट में समस्या

शारीरिक सम्बन्ध तो मनुष्य की प्रेम-अभिव्यक्ति है, जिसे उपर्युक्त समय और परिवेश में करते रहना चाहिए | प्रेम संबंधों के स्थायित्व की प्रतिभूति है सेक्स; यह सभी इन्द्रियों का एक सम्पूर्ण व्यायाम है | सेक्स में संतुष्टि एक बहुत ही आवश्यक पहलु है इसके लिए दीर्घ मिलन तो आवश्यक है ही साथ ही दो अवस्थाएं भी आवश्यक हैं, तो आइये जाने कौन सा समय होता है जब बनाये गए शारीरिक सम्बन्ध सबसे प्रभावी होते हैं | मगर इन सब के बीच क्या आप जानते है माहिलाओ के प्राइवेट पार्ट से जुड़ी ये खास बात,  तो आज हम अपने इस पोस्ट के माध्यम से आपको बतिएँगे.

महिलाओ की योनि के बारे में कुछ ऐसी बातें है जो शायद आपको नहीं पता होगी. आज हम आपको ऐसी ही कुछ बातें बताने जा रहे है.
  • वेसे तो महिलाओ की योनि का आकार 3 से 4 इंच होता है, लेकिन ऑर्गेज्म के समय यह आकार 200 फीसदी तक बढ़ जाता है.
  •  महिलाओ की योनि से आने वाली गंध खानपान पर निर्भर करती है और यह हर महिला में अलग किस्म की होती है.
  •  महिलाओ को अपनी योनि को साफ़ करने को लेकर चिंतित नहीं होना चाहिए, उनकी योनि से एक ख़ास तरह का पदार्थ स्रावित होता है. जो महिलाओ की योनि की सफाई करता है.
  •  महिलाओ की योनि का पीएच 4 है. जो टमाटर, शराब और बीयर के बराबर है.
  •  ३० साल की महिलाओ की योनि एक किशोरी की योनि के मुकाबले दोगुनी बड़ी होती है.
  •  महिलाओ की योनि में नेचुरल लुब्रिकेंट्स पाया जाता है. जिसकी मदद से सेक्स सम्बन्ध बनाने में आसानी होती है.
Back to top button