देश

ट्रैफिक इंस्पेक्टर काटने चला डीसीपी का चालान, गुस्साए साहब ने थाने बुलाकर दी ‘खुराक’

डीसीपी मधुर वर्मा

राजधानी दिल्ली के तुग़लक रोड इलाके में तैनात कर्मवीर नाम के एक ट्रैफिक इंस्पेक्टर का आरोप है कि डीसीपी मधुर वर्मा ने उनको थाने में बुलाकर उनके साथ मारपीट की है. इंस्पेक्टर कर्मवीर इस मामले में इन्साफ की गुहार भी लगा चुके हैं. मामला रविवार रात का है. ट्रैफिक इंस्पेक्टर खान मार्केट सर्कल में पोस्टेड हैं.

इंस्पेक्टर का आरोप है कि रविवार रात करीब 9 बजे एक गाड़ी रॉन्ग साईड आ रही थी जिसे डीसीपी का ऑपरेटर ड्राइव कर रहा था, ट्रैफिक इंस्पेक्टर ने उसे रोका और रॉन्ग साईड आने पर सवाल किया इस पर इनके बीच कहासुनी हुई और इंस्पेक्टर ने कहा तेरा चालान करूंगा.

इसके बाद ऑपरेटर ने कहा वो डीसीपी का ऑपरेटर है, कहासुनी हुई और फिर एसएचओ ने ट्रैफिक इंस्पेक्टर को रात 11 बजे थाने बुलाया और वहा डीसीपी नई दिल्ली मधुर वर्मा थे, इंस्पेक्टर कर्मवीर के आरोप के मुताबिक डीसीपी ने पहले बत्तमीजी की गाली दी और फिर चालान काटने की बात पर जब कर्मवीर ने कहा गाली मत दो तो डीसीपी मधुर ने उसके साथ मारपीट की. इंस्पेक्टर ने अपना मेडिकल कराया और डीसीपी के खिलाफ थाने, दिल्ली पुलिस कमिश्नर, राज्यपाल, प्रधानमंत्री कार्यालय में शिकायत भेजी है. ये आरोप ट्रैफिक इंस्पेक्टर कर्मवीर के हैं.

इन आरोपो पर नई दिल्ली डीसीपी मधुर वर्मा का कहना है ये झूठे है, डीसीपी के मुताबिक परसो रात पांडिचेरी नंबर की एक गाड़ी सवार से इस्पेक्टर कर्मवीर ने बत्तमीजी की और अपने जुनियर स्टाफ दिल्ली पुलिस के साथ मारपीट और बत्तमीजी की. इसपर इंस्पेक्टर ने पेश होकर डीसीपी और स्टाफ से माफ़ी भी मांग ली लेकिन जब उसे लगा कि उसके खिलाफ डिपार्टमेंटल एक्शन होगा क्योकि इसकी शिकायत ट्रैफिक विभाग में भी की गई है, तो इसने ये झूठी कहानी बनाकर गलत आरोप लगाये.

Back to top button