देश

जब राहुल के प्रोग्राम में गूंजी ‘मोदी-मोदी’ की आवाज, तब बोल दी ऐसी बात कि सब हैरान

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कह दी प्यार की ऐसी बात कि नारे लगने लगे 'मोदी, मोदी'

लोक सभा चुनाव का आगाज़ हो चुका है. इस चुनाव में सियासी घमासान के बीच नेताओं की तरफ से आपत्तिजनक बयानबाजी भी तेज हो गई है। सभी पार्टियों ने चुनाव के  के मद्देनजर पार्टियों का चुनावी अभियान जारी है. इस बीच बताते चले  कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शुक्रवार को पुणे में छात्रों से संवाद किया. आरजे मलिश्का और अभिनेता सुबोध भावे द्वारा आयोजित संवाद में राहुल ने राजनीति से लेकर अपनी निजी जिंदगी और बहन प्रियंका गांधी वाड्रा के साथ रिश्तों के बारे में कई सवालों के जवाब दिए.

इस बीच राहुल गांधी से जब पीएम मोदी को लेकर एक सवाल किया गया, तो उन्होंने कहा कि वो पीएम मोदी को पसंद करते हैं. इतना सुनते ही हॉल में ‘मोदी-मोदी’ की गूंज होने लगी.

प्रधानमंत्री मोदी को लेकर पूछे गए सवाल पर राहुल गांधी ने कहा, “मैं मिस्टर नरेंद्र मोदी को पसंद करता हूं. मेरे मन में उनके प्रति नफरत और गुस्सा नहीं है, लेकिन उन्हें मुझसे नफरत है.”  राहुल गांधी जब ये कह रहे थे उसी वक्त हॉल में ‘मोदी-मोदी’ के नारे लगने लगे. हालांकि, कांग्रेस अध्यक्ष इससे प्रभावित नहीं हुए. उन्होंने स्थिति को तुरंत संभाला और कहा,  ‘इट्स फाइन…इट्स फाइन. नो प्रॉब्लम.’

एक छात्र ने राहुल गांधी से पूछा कि न्याय योजना का फंड कहां से आएगा. उन्होंने कहा कि हम नीरव मोदी, अनिल अंबानी, मेहुल चोकसी और विजय माल्या से पैसे लेकर गरीबों को देंगे.

राहुल ने पुणे में छात्रों से बात करते हुए कहा कि उन्होंने अपने परिवार को हिंसा से प्रभावित होते देखा है. उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी तथा राजीव गांधी की हत्याओं का जिक्र किया. कांग्रेस अध्यक्ष ने अपनी छोटी बहन के साथ बचपन की यादों को साझा किया.

बालाकोट एयर स्ट्राइक पर दिया यह जवाब
यह पूछे जाने पर कि बालाकोट एयर स्ट्राइक के लिए श्रेय किसे लेना चाहिए? इस पर उन्होंने कहा, “भारतीय वायु सेना को श्रेय लेना चाहिए. यह महत्वपूर्ण है कि लोग जानते हैं कि वे भारत के साथ खिलवाड़ नहीं कर सकते.” कांग्रेस नेता ने कहा कि वह हवाई हमले का राजनीतिकरण करने के खिलाफ हैं. उन्होंने कहा, “मैं असहस महसूस करता हूं कि प्रधानमंत्री ने वह किया. लेकिन वह उनकी मर्जी है.” उन्होंने कहा कि वह यह दावा नहीं करते कि उनके पास सभी सवालों का जवाब हैं. उन्होंने कहा, “मैं चाहता हूं कि आप मुझे असहज महसूस कराएं ताकि मैं वापस जाऊं और सवालों का जवाब तलाशना शुरू करूं.”

मैंने अपने काम से शादी कर ली है
लोकमान्य तिलक और बाल गंधर्व पर बायोपिक में काम कर चुके भावे ने कहा कि वह उन पर (गांधी पर) बायोपिक में काम करना चाहते हैं और जब यह पूछा कि उसमें हीरोइन किसे होना चाहिए, इस पर गांधी ने कहा, ‘‘दुर्भाग्य से ,मैंने अपने काम से शादी कर ली है.’’ सोशल मीडिया पर आलोचना का सामना करने के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, “जो आभासी वास्तविकता में जीना चाहते हैं वे ऐसा कर सकते हैं. लेकिन कोई भी सच्चाई से नहीं भाग सकता.”

Back to top button