राजनीति

राहुल का इस्तीफा : ना किसी में मांगने की ताकत, ना किसी में देने की हिम्मत, किस्सा खत्म

राहुल गांधी के नेतृत्व में लड़े गए 2019 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को करारी शिकस्त का सामना करना पड़ा है. हार की समीक्षा के लिए आज (25मई) दिल्ली में कांग्रेस वर्किंग कमेटी (CWC) की बैठक हुई. पार्टी मुख्यालय में हुई बैठक में यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, महासचिव प्रियंका गांधी सहित कांग्रेस के कई दिग्गज नेता मौजूद रहे. इस बैठक में हार की जिम्मेदारी लेते हुए राहुल गांधी ने पार्टी अध्यक्ष के पद से इस्तीफे की पेशकश की है. हालांकि बाद में कांग्रेस ने राहुल के इस्तीफे की खबर को खारिज कर दिया.

राहुल के इस्तीफे को लेकर कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने स्पष्ट किया है कि, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के इस्तीफे की पेशकश की रिपोर्ट गलत है. कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक में अभी भी मंथन जारी है.

इससे पहले सूत्रों के हवाले से खबर थी कि राहुल गांधी ने चुनाव में हार की जिम्मेदारी लेते हुए इस्तीफे की पेशकश की है जिसे कार्यसमिति ने नामंजूर कर दिया. पूर्व पीएम मनमोहन सिंह ने कहा, हार-जीत तो लगी रहती है, इस्तीफे की जरूरत नहीं है.

बता दें कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को इस बार यूपी के अमेठी से भी हार का सामना करना पड़ा, जिसके बाद से अब उनके नेतृत्व पर सवाल उठाए जाने लगे हैं. 2014 के बाद 2019 में लगातार दूसरी बार कांग्रेस को हार का मुंह देखना पड़ा है. गौरतलब है कि 2019 लोकसभा चुनाव में कांग्रेस 52 सीटों पर सिमट गई है. बीजेपी ने अकेले 303 सीटें जीती हैं. वहीं एनडीए को 352 सीटें मिली हैं.

 

Back to top button