उत्तर प्रदेश

कॉलेज नहीं दिला सका विदेश में नौकरी, छात्र ने दी बारूद से उड़ाने की धमकी

कानपुर. । जनपद में प्रतिष्ठित इंजीनियरिंग कॉलेज केआईटी को वहां पढ़ने वाले छात्र ने विदेश में नौकरी न लगने पर आरडीएक्स से उड़ाने की धमकी दी है। ई-मेल व व्हाट्सएप के जरिये दी गई धमकी को देखते हुए संस्थान के प्रबंधन ने महाराजपुर थाने में तहरीर दी है। पुलिस ने मुकदमा दर्ज करते हुए धमकी देने वाले बिहार निवासी छात्र की धरपकड़ के लिए टीमों को लगाया है।
बिहार के सीवान स्थित महमूदपुर बड़हरिया के हबीबपुर गांव निवासी पुनीत कुमार शर्मा कानपुर इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (केआईटी) से मैकेनिकल इंजीनियर (बीटेक) का छात्र है। बीटेक अंतिम वर्ष का छात्र होने के चलते पुनीत को कैम्पस प्लेसमेंट के तहत कई कम्पनियों में नौकरी मिली, लेकिन विदेश में नौकरी न मिलने व कम वेतन को लेकर वह काम करने को तैयार नहीं है, न ही ज्वाइनिंग के लिए गया। बल्कि वह इंस्टीट्यूट प्रबंधन से अच्छे वेतनमान पर नौकरी लगवाने की बात कहता रहा।
प्रबंधन ने उसे कई बार समझाया, लेकिन वह नहीं माना। कैम्पस प्लेसमेंट के तहत मनमाफिक नौकरी न मिलने से नाराज छात्र ने इंस्टीट्यूट प्रबंधन से अपनी प्रवेश के समय जमा की गई मार्कशीट और अन्य दस्तावेज मांगे लेकिन संस्थान से दस्तावेज देने से इंकार कर दिया। इससे गुस्साया छात्र इंस्टीट्यूट निदेशक, प्रबंधतंत्र व कर्मचारियों को धमकाने लगा। धमकी में छात्र ने दो बार इंस्टीट्यूट को आरडीएक्स उड़ाने के लिए ई-मेल व व्हाट्सप किया। इससे घबराये इंस्टीट्यूट के प्रशासनिक अधिकारी राहुल श्रीवास्तव वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अनंत देव से मिले। एसएसपी के आदेश पर महाराजपुर थाने में आईटी एक्ट के तहत आरोपित छात्र के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया।
इस सम्बंध में इंस्टीट्यूट के एकेडमिक प्रशासन डॉ. रमेश सिंह गौतम का कहना है कि आरोपित छात्र की संगत आपराधिक किस्म की है। वह बार-बार विदेश में नौकरी लगवाने की बात कह रहा है। जब उसे समझाया गया कि बेहतर नौकरी के लिए अनुभव का होना जरुरी है लेकिन वह अपनी जिद पर अड़ा हुआ है और प्रोफेसर व कर्मियों के साथ संस्थान को आरडीएक्स से उड़ाने की धमकी दे रहा है।
प्रकरण को लेकर क्षेत्राधिकारी सदर भगवान सिंह ने रविवार को बताया कि आरोपित छात्र ने सात अप्रैल और 21 मई को ई-मेल कर धमकी दी है। आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। मामले में जांच के साथ आरोपित छात्र की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की टीमें लगा दी गई हैं।
Back to top button