उत्तर प्रदेशक्राइमख़बर

धर्मांतरण पर एक्शन में CM योगी : आरोपियों पर NSA लगाने की तैयारी, संपत्ति भी होगी जब्त

उत्तर प्रदेश में मौलाना द्वारा धर्म परिवर्तन मामले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कार्रवाई के कड़े निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि जो भी इस काम में शामिल हैं। उन सभी पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (NSA) और गैंगस्टर लगाया जाए। उनकी संपत्ति भी जब्त हो। हर पहलू की विस्तार से जांच होनी चाहिए। सभी दोषियों को जल्द गिरफ्तार किया जाए। एक भी दोषी बचना नहीं चाहिए। ATS ने मौलाना उमर और जहांगीर को 7 दिन के लिए रिमांड पर लिया है।

नोएडा की डेफ सोसाइटी स्कूल की संचालिका से एसटीएफ कर रही पूछताछ
वहीं, यूपी एटीएस ने धर्मान्तरण मामले में दो मौलानाओं को गिरफ्तार करने के बाद छानबीन तेज कर दी है। अब तक की पड़ताल में सामने आया कि जिस नोएडा डेफ सोसाइटी स्कूल के मूक बधिर बच्चों का धर्म परिवर्तन करवाया जा रहा था। उसके प्रबंधन और स्टाफ की भी भूमिका संदिग्ध है। एटीएस टीम स्कूल की संचालिका पश्चिम बंगाल निवासी रोमा रोका को सोमवार से लखनऊ स्थित एटीएस मुख्यालय लाकर पूछताछ कर रही है।

साइन लैंग्वेज पढ़ाने वाली महिला टीचर की तलाश
एटीएस की छानबीन में पता चला कि नोएडा डेफ सोसायटी स्कूल में मूक बधिर बच्चों को साइन लैंग्वेज पढ़ाने वाली एक महिला टीचर के जरिए मौलाना उमर ने स्कूल के बच्चों तक अपनी पहुंच बनाई थी। इसके बाद मौलाना के दावा इस्लामिक सेंटर ने एक-एक करके 18 बच्चों का धर्मान्तरण करवा दिया। इसकी जानकारी के बावजूद स्कूल प्रबंधन ने पुलिस को सूचना नहीं दी। मौलानाओं की गिरफ्तारी होने के बाद से साइन लैंग्वेज पढ़ाने वाली महिला टीचर लापता है। टीम उसकी तलाश में छापेमारी कर रही है। स्कूल के बाकी स्टाफ से भी लगातार पूछताछ चल रही है।

मूक बधिर छात्र के पिता का वीडियो सामने आया
मौलानाओं की गिरफ्तरी के बाद गुरुग्राम के जिस मूक बधिर छात्र मुन्नू यादव का धर्म परिवर्तन करवाया गया था, उसके पिता राजीव यादव का एक वीडियो सामने आया। राजीव बता रहे हैं कि उनके बेटे को धोखे से मुस्लिम बनाया गया। इसकी जानकारी होने के बाद उन्होंने गुड़गांव पुलिस से संपर्क किया, लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की।

इस्लाम अपनाने के बाद बेटा घरवालों को वीडियो कॉल करके इशारों में आतंकी बनने की बात कहता था। विरोध करने या पुलिस को सूचना देने पर पूरे परिवार को जान से मारने की धमकी देता था। राजीव का कहना है कि उन्होंने स्कूल प्रबंधन को पूरे मामले की जानकारी दी लेकिन पूरा स्टाफ खामोश रहा।

सोमवार को लखनऊ से हुई थी दो मौलानाओं की गिरफ्तारी
उत्तर प्रदेश एंटी टेरेरिस्ट स्क्वॉड (ATS) ने सोमवार को दो मौलानाओं जहांगीर और उमर गौतम को लखनऊ स्थित एक बड़े मुस्लिम संस्थान से पकड़ा था। ये लोग बड़े पैमाने पर यूपी में हिंदुओं को बरगलाकर उनका धर्म परिवर्तन करा रहे थे। ATS टीम इनसे पूछताछ करके सबूत जुटा रही है। पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI इन्हें फंडिंग भी कर रही थी। ATS अफसरों के मुताबिक यह गरीब हिंदुओं को निशाना बनाते थे। अभी तक करीब एक हजार लोगों का धर्म परिवर्तन करवा चुके हैं, इनमें बड़ी संख्या में मूक-बधिर और महिलाएं शामिल हैं।

दाेनों दावा इस्लामिक सेंटर चलाते हैं
गिरफ्तार किए गए दोनों मौलाना दावा इस्लामिक सेंटर के नाम से संस्था चलाते हैं। 3 जून को दिल्ली के डासना मंदिर में दो मुस्लिम लड़कों ने पुजारी पर हमले का प्रयास किया गया। दोनों को जब पकड़ा गया तो मौलाना उमर और जहांगीर के बारे में पुलिस को जानकारी मिली।

कानपुर, बनारस और नोएडा में धर्म परिवर्तन करवाया है
ये मौलाना नोएडा डेफ सोसायटी में संचालित मूक-बधिर स्कूल के छात्र-छात्राओं को बरगलाकर और प्रलोभन देकर धर्म परिवर्तन करवा चुके हैं। धर्म परिवर्तित एक हजार महिलाओं, बच्चों की सूची मिली है। कानपुर, बनारस और नोएडा के भी तमाम बच्चों, महिलाओं का धर्म परिवर्तन करवा चुके हैं। कानपुर के एक बच्चे को साउथ के किसी शहर में ले जाया गया है। उसके बारे में STF पता लगा रही है।


loading…

loading…

Back to top button