गैजेट ज्ञान

Chrome ब्राउजर यूजर्स के लिए चेतावनी, Google बोला- यूं हो सकता है साइबर अटैक

दुनिया के सबसे बड़े सर्च इंजन Google ने Google Chrome browser को अपडेट करने के लिए चेतावनी जारी की है। Google ने कहा है कि Chrome का पुराना वर्जन हैकर्स के निशाने पर है और हैकर्स उसे कभी भी हैक कर सकते हैं। ऐसे में यदि आप Google Chrome ब्राउजर का उपयोग करते हैं तो आपको सावधान हो जाने की जरूरत है। Google के अनुसार Chrome के नए अपडेट 72.0.3626.12 में लेटेस्ट सिक्यॉरिटी पैच दिया जा रहा है, जिससे इस साइबर अटैक से बचा जा सकता है। Google Chrome के लेटेस्ट वर्जन 72.0.3626.12 को पिछले सप्ताह रोल आउट किया गया है।

दरअसल हैकर्स द्वारा Google Chrome को CVE-2019-57686 से निशाना बनाया जा रहा है। हाल ही में Google ने ब्लॉग पोस्ट कर जानकारी दी कि, ‘CVE-2019-5786 को फिक्स करने के लिए गूगल ने 1 मार्च को एक अपडेट जारी किया है। क्रोम को यह ऑटो-अपडेट के जरिए मिल रहा है। हम यूजर्स को यह बताना चाहते हैं कि वो अपने Google Chrome के वर्जन को एक बार चेक कर लें, कि उनका ब्राउजर 2.0.3626.121 या उसके बाद वाले वर्जन से अपडेट हुआ है या नहीं।’

सिक्युरिटी एवं डेस्कटॉप इंजीनियर जस्टिन शू ने कई ट्वीट करके बताया कि यह गड़बड़ी या बग पिछले बग से काफी अलग है। यह बग Google Chrome के कोड को टारगेट करता है जिसके बाद यूजर्स को ब्राउजर को री-स्टार्ट करना पड़ता है।

यह बग Google Chrome के फाइल रीडर फीचर को प्रभावित करता है। बग मुख्य तौर पर Chrome ब्राउजर के फाइल रीडिंग API को अटैक करता है। Google का फाइल रीडर वह फीचर है जो कम्प्यूटर में सेव किए हुए फाइल्स को पढ़ता है। इससे अहम जानकारियां प्रभावित हो सकती है। पिछले माह Google के थ्रेट ऐनालिसिस ग्रुप के मेंबर्स ने बग को सबसे पहले 27 फरवरी को स्पॉट किया था। Google ने ब्लॉग पोस्ट के जरिए बताया कि Google Chrome के पिछले वर्जन में आए बग CVE-2019-5786 के बारे में जानकारी दी थी।

Back to top button