उत्तर प्रदेश

सपेरा बजा रहा था बीन, छीन ले गया बंदर, देखिए वायरल वीडियो

मथुरा: धर्म की नगरी वृंदावन में एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है। जहाँ एक सपेरा बाँके बिहारी मंदिर के चार नंबर गेट के पास  सांप दिखाकर  पैसे मांग रहा था,  तभी अचानक एक उत्पाती बंदर  आया  और  सपेरे के हाथ से सांप लेकर  भाग गया। सपेरे ने साँप को छुड़ाने के लिए काफी प्रयास किये। लेकिन बंदर ने साँप को केवल मारा ही नहीं बल्कि चश्मदीदों के मुताबिक उसे खा भी गया।  यह पूरा मामला वहां लगे  सीसीटीवी में  कैद हो गया। फिलहाल उत्पाती बंदर का यह कारनामा मथुरा शहर में चर्चा का विषय बना हुआ है।

वृंदावन में कायम है बंदरों की दहशत

वृन्दावन में बंदरों के आतंक के किस्से किसी से छुपे नहीं हैं। वृन्दावन में बंदरों के आतंक किस कदर बढ़ गया है, इसका नमूना देखने को मिला बाँके बिहारी मंदिर पर। मन्दिर पर गेट नम्बर 4 पर लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद 26 अक्टूबर की सुबह 9 बजे की घटना जिसने देखी वह शॉक्ड  हुए बिना नहीं रह सका। वीडियो में दिख रहा है कि एक सपेरा अपने पास मौजूद सांप को दिखाकर श्रद्धालुओं से पैसे ले रहा है। इसी बीच उसके पीछे से बन्दर आता है और मौका देखकर सपेरे के सांप को लेकर भाग जाता है।  सपेरा जब तक कुछ समझ पाता है तब तक बन्दर सीसीटीवी कैमरे की नजर से दूर निकल जाता है। सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे इस वीडियो ने वृन्दावन में बंदरों के बढ़ते आतंक की तस्वीर दिखाई है। सांप को ले जाने की जानकारी मिलते ही सपेरा अपने साँप को वापस लाने के लिए बन्दर के पीछे भागता है।   लेकिन उसे कोई सफलता नहीं मिली।

श्रद्धालुओं का सामान छीन लेते हैं बंदर

ऐसा नहीं है कि इन उत्पाती बंदरो ने केवल आज ही इस तरह का कारनामा किया है। वृन्दावन बांके बिहारी मंदिर के आसपास के बंदर काफी खूंखार हैं। इनके आतंक का खामियाजा कई लोगों को अपनी जान की कीमत देकर चुकाना पड़ा है। वृन्दावन में बंदर आये दिन आने वाले श्रद्धालुओं को अपना शिकार बनाते हैं और उनके चश्मे और पर्स आदि सामान को छीन लेते हैं और फ्रूटी व खाने पीने के सामान देने के बाद ही सामान वापस करते हैं।

आक्रोशित लोगों ने की नारेबाजी

बंदरो के आतंक को लेकर आज आक्रोशित लोगों ने शहर के ह्रदय स्थल होलीगेट पर प्रसाशन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की ओर योगी पर भी निशान साधा। होली गेट पर स्थानीय लोगों ने एकत्रित होकर बंदर भगाओ शहर बचाओ नारे के साथ अपना विरोध प्रदर्शन जाहिर किया और प्रशासन से बंदरों से मुक्ति दिलाने की अपील की।

प्रदर्शन में भाग लेने आए स्थानीय नागरिक गिरधारी लाल चतुर्वेदी ने बताया कि आए दिन बंदर परेशान करते हैं और सामान छीन कर भाग जाते हैं कई बार बच्चों को काट भी लिया है और जो सामान ले जाते हैं राजगीर उनके सामान पर छीना झपटी कर उन्हें काट लेते हैं। वहीं जिला प्रशासन से बंदरों से निजात दिलाने की उन्होंने अपील की और बातों ही बातों में उन्होंने कहा कि योगी जी जब वृंदावन आए थे तो उन्होंने एक हास्य पद बयान दिया कि अगर हनुमान चालीसा पढ़ेंगे तो बंदर नहीं काटेंगे ऐसा नहीं है कि हनुमान चालीसा पढ़ने से बंदर ना काटे।

बंदरो के आतंक को लेकर लोगो का गुस्सा भले ही सड़को पर आ गया हो लेकिन अब देखने वाली बात यह है कि क्या प्रशासन इन बंदरों से निजात दिला पाता है या फिर बंदर लोगों का सामान छीन कर ऊपर की दौड़ लगाते रहेंगे।

Back to top button