जरा हट के

इस सवाल का लड़की ने दिया ऐसा गजब जवाब, जानकर चकरा जाएगा आपका भी दिमाग

 

यूँ तो आपने आईएएस के इंटरव्यू के दौरान पूछे गए सवालों के बारे में कई बार सुना और पढ़ा होगा, लेकिन आज हम कुछ ऐसे अजीबोगरीब सवालों से रूबरू करवाने वाले है, जो लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित सिविल सर्विसेज परीक्षा के दौरान पूछे गए थे. बता दे कि इस परीक्षा में जो सवाल पूछे जाते है, वो केवल इसलिए पूछे जाते है, ताकि प्रतियोगियों की मानसिकता को अच्छी तरह से जाना जा सके. हालांकि ये सवाल सुनने में तो बड़े अजीब लगते है, लेकिन इनके जवाब उतने ही सरल और आसान होते है.

इन सवालों के जवाब पर ही ये आधारित होता है कि सामने वाला व्यक्ति कैसी सोच रखता है. बरहलाल आज हम भी आपसे कुछ ऐसे ही अजीबोगरीब सवाल पूछने वाले है, जिनके जवाब सुन कर आप भी हैरान रह जाएंगे. हालांकि इन सवालों को सुन कर पहले तो प्रतियोगी थोड़ा असहज महसूस करते है, लेकिन इस तरह के सवाल अचानक से पूछने का मकसद ही यही होता है कि प्रतियोगियों की काबिलियत को अच्छे से पहचाना जा सके. तो चलिए अब ये सवाल जवाब का सिलसिला शुरू करते है.

१. सवाल.. सबसे पहला सवाल ये है कि जब पहिये का अविष्कार हुआ तो क्या हुआ ?

जवाब.. अब जाहिर सी बात है कि जब पहिये का अविष्कार हुआ, तब युद्ध तो हुआ नहीं होगा. इसलिए क्रान्ति ही हुई थी. यानि इसका जवाब क्रांति है.

२. सवाल.. अब दूसरा सवाल सुन कर तो किसी भी सहनशील व्यक्ति को गुस्सा आ जाए, लेकिन इस कैंडिडेट ने दूसरे सवाल का जो जवाब दिया, वो वास्तव में काबिले तारीफ है. सवाल ये है कि अगर मैं आपकी माँ को वेश्या कहूं तो क्या होगा ?

जवाब.. इसके जवाब में कैंडिडेट के चेहरे पर हल्की सी मुस्कान आयी और उसने कहा कि तब केवल मेरे पिता ही एकमात्र ग्राहक होंगे और वह बदले में काफी प्यार देंगे.

३. सवाल.. आपके पास दो गाय और चार बकरी है, तो बताईये आपके पास कुल कितने पैर होंगे?

जवाब.. अब इंसान के पैर तो दो ही होते है. हालांकि कुछ लोग इसका जवाब जोड़ लगा कर भी देते है, लेकिन इसका जवाब काफी सिंपल है. जी हां इसका जवाब दो ही है.

४. सवाल.. भगवान् राम ने पहली दीवाली कहाँ मनाई थी?

जवाब.. अब कुछ लोग इसका जवाब अयोध्या देते है. मगर आपकी जानकारी के लिए हम बता दे कि दीवाली का त्यौहार भगवान् कृष्ण द्वारा नरकासुर का वध करने की ख़ुशी में मनाया जाता है. अब भगवान् राम क्यूकि भगवान् कृष्ण से पहले पैदा हुआ था, इसलिए भगवान् राम ने तो दीवाली मनाई ही नहीं थी.

वैसे हमें यकीन है कि इन सवालों के जवाब जान कर आपको जितनी हैरानी हुई होगी, उतना ही मजा भी आया होगा.

Back to top button