उत्तर प्रदेश

मायावती ने दिग्गज कांग्रेसी पर साधा निशाना, बताया BJP का एजेंट

mayawati

नई दिल्ली: मध्यप्रदेश में कांग्रेस के साथ गठबंधन न होने के लिए बीएसपी मुखिया मायावती ने दिग्विजय सिंह को जिम्मेदार बताया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी में दिग्विजय सिंह जैसे बहुत से ऐसे नेता हैं जो नहीं चाहते हैं कि राज्य में गठबंधन हो। अब सवाल है कि दिग्विजय सिंह ने क्या कहा था। दरअसल दिग्विजय सिंह ने कहा था कि सीबीआई और ईडी से मायावती डरती हैं। सीबीआई और ईडी की डर की वजह से ही वो गठबंधन करने से डर रही हैं।

मायावती ने कहा कि कांग्रेस के नेता दंभ में चूर हैं। उन्हें लगता है कि वो अकेले बीजेपी के हरा पाने में कामयाब होंगे। लेकिन सच ये है कांग्रेस पार्टी की गल्तियां और उनके भ्रष्टाचार को लोग भूले नहीं हैं। ऐसा प्रतीत होता है कि कांग्रेस अपनी खामियों को सुधारने की कोशिश नहीं कर रही है।

मायावती ने कहा कि कांग्रेस का हाल क्या है इसे पूरा देश जानता है। लेकिन उनके नेताओं को समझ में नहीं आ रहा है कि क्या करना चाहिए। आज देश में कांग्रेस के खिलाफ माहौल है। लेकिन ऐसा लगता है कि कांग्रेस नेताओं को बीजेपी को परास्त करने में रुचि नहीं है। अगर ऐसा ही रहा तो वो लोग सुनहरा मौका छोड़ देंगे।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और सोनिया गांधी का मन है कि वो बीएसपी के साथ तालमेल कर चुनावों में जाएं। लेकिन दुख की बात है कि कांग्रेस के ही कुछ नेता गठबंधन या महागठबंधन की राह में रोड़ा बने हुए हैं। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि राजस्थान और मध्यप्रदेश में उनकी पार्टी अकेले चुनाव में जाएगी।

दिग्विजय सिंह पर करारा वार करते हुए उन्होंने कहा कि वो तो बीजेपी के एजेंट हैं। उनका ये कहना गलत है कि वो केंद्र सरकार के दबाव में हैं या वो सीबीआई या ईडी से डर रही हैं। मायावती ने कहा कि जिन लोगों को बीएसपी के संघर्ष के बारे में जानकारी नहीं है उन्हें बीएसपी के इतिहास को पढ़ने की जरूरत है।

देश में आज किसानों,अल्पसंख्यक, शोषित समाज के मुद्दे पर बीजेपी के खिलाफ माहौल बना हुआ है। लेकिन कांग्रेस को ऐसा लग रहा है कि कुछ नजर नहीं आ रहा है। कांग्रेस की हालत उस रस्सी की तरह है जो जल चुकी है लेकिन ऐंठन नहीं जा रही है। उन्होंने कहा कि बीजेपी की तरह कांग्रेस भी बीएसपी को खत्म करने के अभियान में जुटी हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button