उत्तर प्रदेश

भाजपा सांसद ने चौकीदार को सौंपा इस्तीफा, थाम लिया सपा का झंडा

उत्तर प्रदेश के हरदोई से भाजपा सांसद अंशुल वर्मा ने बुधवार को समाजवादी पार्टी (सपा) का दामन थाम लिया। भाजपा से टिकट कट जाने से वह नाराज चल रहे थे। आज ही उन्होंने भाजपा को इस्तीफा भी दिया है। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भाजपा सांसद अंशुल वर्मा को पार्टी में शामिल कराया। इस मौके पर सपा के कद्दावर नेता व रामपुर से लोकसभा प्रत्याशी आजम खान भी उपस्थित रहे। लोकसभा चुनाव-2019 में टिकट कटने से नाराज सांसद ने सपा में शामिल होने से पूर्व भाजपा प्रदेश मुख्यालय पहुंचकर प्रदेश महामंत्री (संगठन) सुनील बंसल की सुरक्षा में तैनात चौकीदार को अपना इस्तीफा पत्र दिया था।

अंशुल वर्मा ने कहा कि भाजपा ने विकास का मानक रखा था। सदन में मेरी 94 प्रतिशत उपस्थिति रही। इसके बावजूद मेरा टिकट काट दिया गया। इसमें मेरा दोष कहां था, यह समझ से परे है। टिकट काटने का कारण कोई भी बताने को तैयार नहीं है। इससे आहत होकर मैंने भाजपा को छोड़ दी है। सांसद ने कहा कि मैंने अपने सोशल मीडिया साइट्स के वाल पर चौकीदार नहीं लिखा तो मेरा टिकट काट दिया गया।

इस्तीफा सौंपने के बाद सांसद ने कहा कि विकास किया है, विकास करेंगे, अंशुल थे अंशुल ही रहेंगे, चौकीदार न कहेंगे। उन्होंने प्रधानमंत्री के महत्वाकांक्षी स्वच्छता अभियान टिप्पणी करते हुए कहा कि स्वच्छता भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गया है।

उल्लेखनीय है कि भाजपा ने हरदोई लोकसभा सीट पर अंशुल वर्मा का टिकट काटकर जय प्रकाश रावत को मैदान में उतारा है। इसी के चलते वो नाराज चल रहे थे और भाजपा के खिलाफ बगावती तेवर बनाए हुए थे और भाजपा छोड़ते ही सपसा में शामिल हो गये हैं।

Back to top button