उत्तर प्रदेश

योगी के विधायक ने पकड़ा करोड़ों का घपला, मिली मंत्री के नाम की धौंस तो बोले ये बात

यूपी: भाजपा विधायक ने पकड़ा करोड़ों का घोटाला, मंत्री का धौंस देने पर ठेकेदार को विधायक ने दिया करारा जवाब

शाहजहांपुर। यूपी के शाहजहांपुर में भाजपा सरकार के एक MLA एक नया चेहरा देखने को मिला  मामला यहां करोड़ों का घोटाले का है। योगी राज में यहाँ विधायक  एक साल में तीसरी बार सड़क बनवा रहे है। लेकिन तभी विधायक ने मौके पर पहुंचकर कार्य को रूकवा दिया। इसी दौरान ठेकेदार का करीबी चमचा विधायक के पास आता है और उनके उपर दबाव बनाता है कि ये वही ठेकेदार हैं जिसने मंत्री जी हनुमतधाम बनवाया है। ये सुनकर विधायक का गुस्सा सातवें आसमान पर पहुंच गया और विधायक ने खरीखोटी सुनाते हुए कहा कि मंत्री जी अपना क्षेत्र लुटवा दें लेकिन हम अपना इलाका लुटने नहीं देंगे। विधायक का कहना है कि वे इसकी शिकायत उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य से करेंगे। फिलहाल विधायक ने बन रही सड़क के काम को रूकवा दिया है।

जानिए क्या है पूरा मामला 

दरअसल तिलहर विधान सभा क्षेत्र में माहू महेश, तयूलक, बिसुलिया रोड करीब 7 किलोमीटर लंबा है। इस सड़क को 1 करोड़ 96 लाख 58 हजार रुपए मे बनना है। लेकिन जब आप इस रोड का हाल देखेंगे तब आपको बता चलेगा कि कितना बड़ा घोटाला किया जा रहा था। इस सड़क को पीडब्ल्यूडी विभाग बनवा रहा है। इस सड़क को ठेकेदार इकबाल बनवाकर लाखों का वारा न्यारा कर रहा था। इस रोड को एक साल पहले पीडब्ल्यूडी ने बनवाया था। लेकिन कुछ दिन बाद इस सड़क पर गढ्ढे हो गए तो सरकार ने सड़कों को गड्ढा मुक्त करने की योजना बनाई। तब इस रोड पर 58 लाख रुपए लगाकर गड्ढों को भरकर लाखों का घोटाला किया गया था।

यूपी: भाजपा विधायक ने पकड़ा करोड़ों का घोटाला, मंत्री का धौंस देने पर ठेकेदार को विधायक ने दिया करारा जवाब

उसके बाद अब फिर 1 करोड़ 96 लाख 58 हजार रुपए का पीडब्ल्यूडी से टेंडर पास हुआ और टेंडर एक मंत्री के करीबी ठेकेदार इकबाल को दिया गया। लेकिन अब आप इस रोड की पहले वाली हालत देखेंगे तब आपको लगेगा कि क्या इस रोड को बनवाने की जरूरत थी। ये ऐसा रोड है जिसको बनाने की बिल्कुल भी जरूरत नहीं थी। इस बारे में सुनकर जब विधायक रोशनलाल वर्मा सड़क का मुआयना करने पहुंचे तो उन्होंने रोड पर पड़ रहे पत्थरों को हटवाया तो उसके नीचे एक साफ सुथरी सड़क बनी हुई थी।

विधायक ने ये देखकर सड़क बनाने के कार्य को रूकवा दिया और इसकी शिकायत उप मुख्यमंत्री से करने को कही। इस दौरान ठेकेदार करीबी वर्कर मुस्तफा विधायक के पास आया और कैबिनेट मंत्री सुरेश कुमार खन्ना का नाम लेने लगा। वर्कर मुस्तफा ने विधायक से कहा कि ठेकेदार का नाम इकबाल है। ये वहीं ठेकेदार है जिसने मंत्री जी का हनुमतधाम बनाया था। ये सुनकर विधायक का गुस्सा सातवें आसमान पर पहुंच गया। और विधायक ने ठेकेदार के वर्कर को जमकर खरीखोटी सुनाई। विधायक ने यहां तक कह दिया कि होंगे मंत्री जी अपने लिए। मंत्री जी अपना क्षेत्र लुटवाएं लेकिन हम अपना क्षेत्र लुटने नहीं देंगे।

Back to top button