उत्तर प्रदेश

भाजपा घोषणा पत्र : विपक्ष ने कहा गुमराह पत्र, सत्तापक्ष ने बताया विकासोन्मुखी

Image result for भाजपा का घोषणा पत्र 2019

लखनऊ। भारतीय जनता पार्टी ने, जहां अपने चुनावी घोषणा पत्र में राष्ट्रवाद एवं अन्त्योदय पर आगे बढ़ते हुए सबके लिए काम करने का वायदा किया है वहीं सपा, बसपा और कांग्रेस समेत समूचे विपक्ष ने भाजपा के संकल्प पत्र को गुमराह पत्र कहा है। भाजपा पदाधिकारी इसे चतुर्दिक विकासोन्मुखी घोषणा पत्र करार दे रहे हैं। बसपा प्रमुख मायावती ने भाजपा के संकल्प पत्र पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि भाजपा ने एक बार फिर घोषणा पत्र के माध्यम से जनता को बरगलाने की कोशिश की है।

इस चुनाव में यह पार्टी जनता को बरगलाने का काम कर रही है, लेकिन काठ की हांडी बार-बार नहीं चढ़ती है। उन्होंने कहा कि जनता से विश्वासघात करने वाली बीजेपी व नरेन्द्र मोदी सरकार को नया घोषणा पत्र जारी करने का कोई नैतिक अधिकार नहीं है, उनपर विश्वास करना तो बहुत दूर की बात है। सबसे पहले उन्हें अपनी घोर वादाखिलाफी व जनविश्वासघात के लिये जनता से माफी मांगनी चाहिये। उन्होंने 5 साल में केवल धन्नासेठों के लिए ही काम किया है। मायावती ने कहा कि लोग इसे वादा नहीं बल्कि जुमलेबाजी कहकर नकारते हैं। इनका असली चेहरा अब बेनकाब हो गया है। इनका घोषणापत्र केवल छलावा ही छलावा है।

वहीं समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय सचिव व प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने कहा कि भाजपा का संकल्प पत्र विनाश का संकल्प पत्र है। ये लोग खुद संकल्प लेते हैं, खुद ही संकल्प तोड़ते हैं। यह लोग देश को बर्बाद कर रहे हैं।  सपा के प्रदेश प्रवक्ता डा. संजय राठी ने कहा कि भाजपा का संकल्प पत्र झूठा घोषणा पत्र है। इसमें सारी पुरानी चीजें हैं।

यह चाहते 370 हटा सकते थे। भाजपा ने 13 एम्स खोलने की बात की थी अभी पांच ही खुल पाये हैं। देश के युवाओं को 2 करोड़ रोजगार हर साल देने का वादा किया था, लेकिन हकीकत यह है कि चार करोड़ नौकरियां चली गईं। देश में बेरोजगारी भी बढ़ी है। इसके अलावा किसानों की आय दोगुना करने के मुद्दे पर भाजपा सरकार पूरी तरह विफल साबित हुई है।

लोकदल के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुनील सिंह ने कहा कि पिछले संकल्प पत्र में जिन मुख्य मुद्दों पर वायदे किए गए थे, एक भी वायदे पूरे ना होने के कारण इस बार के घोषणापत्र में उन मुख्य मुद्दों से दूरी बनाए रखी गई है। नौजवान, किसान, व्यापारी, काला धन आदि सभी मुद्दे गायब हो गए हैं। राम मंदिर धारा 370 ए, धारा 35 ए ,समान नागरिकता का अलार्म फिर दोहराया गया है। भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) के राज्य सचिव ने हीरालाल यादव कहा कि भाजपा ने 2014 में जो वादा किया था, सत्ता में आने बाद ठीक उल्टा काम किया। अब 2019 में भाजपा का जारी संकल्प पत्र वोट लिए लेने के लिए गुमराह पत्र है।

भाजपा प्रदेश प्रवक्ता मनीष शुक्ला ने कहा कि भाजपा का संकल्प पत्र सभी के लिए खुशहाली लाने वाला है। हमारे संकल्प पत्र में राष्ट्र सर्वप्रथम है। 130 करोड़ जनता की भावनाओं की अभिव्यक्ति है। हमने विधानसभा और लोकसभा छेत्रों की जनता से बातचीत के बाद ही संकल्प पत्र तैयार किया है। वहीं, राम मंदिर पर कहा कि बेहतरीन संभावना की तलाश करेंगे। 370 व 35ए धारा को खत्म करेंगे। 

Back to top button