ख़बरदेश

वायरल वीडियो में मोदी के मर्डर की बात बोलते दिखे तेजबहादुर, अब सफाई में बताई ये ‘सच्चाई’

PM नरेंद्र मोदी के खिलाफ वाराणसी से चुनावी मैदान में उतरने वाले बीएसएफ के बर्खास्त जवान तेज बहादुर यादव का एक वीडियो सोशल मीडिया पर बहुत तेज़ी से वायरल हो रहा है . इस विडियो पर सियासी सियासी परा गरमा गया है. इस मामले में  बीजेपी ने अपनी  प्रतिक्रिया देते हुए इसे प्रधानमंत्री की हत्या की साजिश करार दिया है. इस वीडियो में तेज बहादुर कहते नजर आ रहे हैं कि अगर उन्हें 50 करोड़ रुपए दिए जाएं तो वो प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को मारने के लिए तैयार हैं। सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो की प्रमाणिक पुष्टि janman.tv   नहीं करता है.

वायरल वीडियो पर घमासान 

'50 करोड़ में मोदी को मरवा दूंगा', वायरल Video पर घिरे तेज बहादुर, दिया ये जवाब

मिली जानकारी के मुताबिक आपको बताते चले इस  वीडियो वायरल होने के बाद मीडिया  से खास बातचीत में बीएसएफ के बर्खास्त जवान  तेज बहादुर ने बड़ा .बयान दिया है उन्हने मीडिया से बातचीत में बताया कि  यह वीडियो दो साल पुराना दिल्ली का है. जब दिल्ली पुलिस में तैनात एक बर्खास्त सिपाही पंकज शर्मा ने एक पार्टी आयोजित की थी. उन्होंने बताया वीडियो जारी करने से पहले मुझे पंकज शर्मा ने फोन करके 50 लाख रुपये की मांग की थी. तेज बहादुर ने कहा कि शराब पीना कोई कानूनी अपराध नहीं हैं.

'50 करोड़ में मोदी को मरवा दूंगा', वायरल Video पर घिरे तेज बहादुर, दिया ये जवाब

आगे उन्होंने इस वायरल विडियो पर अपनी नाराजगी ज़ाहिर करते हुए कहा ये मुझे ब्लैकमेल कर रहे थे. पीएम मोदी के खिलाफ नामांकन करने वाले तेज बहादुर ने बताया कि ये वीडियो बनाने वाला दिल्ली पुलिस का सिपाही पंकज शर्मा है जिसने मुझे धमकी थी कि अगर तुमने 50 लाख रुपये नहीं दिए तो हम इस वीडियो को बीजेपी आईटी सेल को दे दूंगा. तेज बहादुर कहा मैंने हमने उन लोगों को रुपये देने से मना कर दिया. जबकि हमने पंकज शर्मा की मदद की थी, जब वह दिल्ली पुलिस से बर्खास्त हुए थे.आगे की कार्रवाई पर तेज बहादुर ने बताया कि मैं इसके खिलाफ कानूनी सलाह लूंगा, क्योकि मेरी सामाजिक प्रतिष्ठा धूमिल हुई हैं.

'50 करोड़ में मोदी को मरवा दूंगा', वायरल Video पर घिरे तेज बहादुर, दिया ये जवाब

इस मामले में तेज बहादुर यहीं नहीं रुके, उन्होंने बड़ा खुलासा करते हुए बताया कि बताया कि मैंने पंकज शर्मा की काफी मदद की थी, लेकिन हमारे दोस्त ने ऐसा काम किया मुझे इसका विश्वास नहीं था. तेज बहादुर ने कहा कि मानहानी के केस दायर करने के लिए पैसों की जरूरत पड़ती है. ऐसे में मेरे पास पैसे नहीं है. बता दें कि इस वीडियो में तेज बहादुर हाथ में शराब का गिलास लिए शराब पीते नजर आ रहे हैं. साथ ही कुछ और लोग भी बैठे नजर आ रहे हैं. सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे इस वीडियो में तेजबहादुर को साफ देखा जा सकता है. इसी वीडियो में एक और शख्स नजर आ रहा है जो कह रहा है, ये तेज बहादुर यादव हैं पूर्व BSF जवान.

देखे विडियो 

वहीं, भाजपा प्रवक्ता जी वी एल नरसिम्हा राव ने आरोप लगाते हुए कहा कि यह निराशाजनक है कि प्रधानमंत्री की हत्या के लिए एक और षड्यंत्र उस व्यक्ति ने किया है जिसे वाराणसी से समाजवादी पार्टी ने लोकसभा का उम्मीदवार बनाया है.

 

Back to top button