क्राइम

गजब है बिहार की इस लेडी डॉन की कहानी, जेल में हुई शादी और जेल में ही आया बेबी

पैसा, लग्जरी, ऐशो-आराम कि चाहत में लोग मेहनत कि बजाय शॉर्ट कट का रास्ता अपना लेते है और ये रास्ता अक्सर गलत रास्ता ही होता है। पटना पॉलिटेक्निक कॉलेज की स्टूडेंट रही पूजा ने लग्जरी लाइफ और ज्यादा पैसे के लिए साल 2012 में क्राइम वर्ल्ड में एंट्री की थी। कुछ सालों तक इस कम मे एक्टिव रहने के बाद वो अरेस्ट की गई और फिर साल 2014 में उसने गैंगस्टर मुकेश पाठक से जेल में ही शादी की थी। जेल मे शादी कर लेना तो ठीक था मगर तब ये साधारण से बात बड़ी खबर बन गयी जब जेल में रहने के दौरान ही वो प्रेग्नेंट हो गयी।

पटना हाईकोर्ट से बेल मिलने के बाद पूजा ने तीन दिन पहले शहर के संजय साह को डरा-धमका कर गोली मार देने की बात कही थी। असल में पूजा ने अपने प्रचार के लिए संजय के दुकान के सामने पानी ठंडा करने वाली मशीन लगाई थी जिसकी सूचना संजय ने पुलिस को दे दी थी। शिकायत के बाद पुलिस ने मशीन को जब्त कर लिया, मगर पूजा को ये बात नागवार गुजराई और पूजा पाठक ने संजय साह को मशीन लगाने पर विरोध करने पर गोलियों से छलनी कर देने की धमकी दी थी।

मूल रूप से मुजफ्फरपुर जिले के सकरा काशोपुर गांव के रहने वाले मिथलेश कुमार की बेटी पूजा पटना पॉलिटेक्निक कॉलेज की स्टूडेंट थी। आपको बता दे की पूजा का आपराधिक इतिहास रहा है, बताया जाता है कि पूजा सड़क किनारे खड़ी होकर वाहन चालकों से लिफ्ट मांगती और सुनसान जगह ले जाकर साथियों के साथ मिल वाहन चालक को नशे की सुई दे बेहोश कर गाड़ी लूट लेती थी। पूजा के खिलाफ कई थानों में हत्या, रंगदारी, अपहरण, लूट सहित करीब 2 दर्जन से भी ज्यादा मामले दर्ज हैं।

 

बताया जाता है की 16 जुलाई 2013 को स्थानीय पुलिस ने घंटों मशक्कत कर वृन्दावन गांव से लूटी गयी नई स्कॉर्पियो सहित पूजा कुमारी व राजेश कुमार को गिरफ्तार किया था। पूजा को शिवहर जेल में रखा गया था और इसी जेल में गैंगस्टर मुकेश पाठक भी था। जानकारों के मुताबिक जेल मे ही सजा के दौरान दोनों में प्यार हुआ और फिर दोनों ने 2014 में जेल में ही शादी की थी, जिसका गवाह तत्कालीन एसपी हिमांशु शंकर त्रिवेदी, एसडीओ, जेलर रामचन्द्र साफी आदि आलाधिकारी बने थे।

लेकिन सोचने वाली बात ये थी कि पूजा जेल मे कैसे प्रेग्नेंट हो गयी, खैर  इस सनसनीखेज खबर का खुलासा तब हुआ जब पूजा पाठक को शिवहर जेल से मुजफ्फरपुर जेल ट्रांसफर किया जा रहा था।

Back to top button