क्राइम

Bihar: किशनगंज के थानेदार छापा मारने के लिए गए थे बंगाल, भीड़ ने पीट-पीटकर मार डाला

किशनगंज
किशनगंज टाउन थानाध्यक्ष अश्विनी कुमार की बंगाल के इलाके में बेरहमी से मार दिया गया। बंगाल सीमा पर छापेमारी करने गए टाउन थानाध्यक्ष की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई। किशनगंज टाउन थानाध्यक्ष अश्विनी कुमार अपनी टीम के साथ किशनगंज से सटे बंगाल के बनतापारा में शुक्रवार देर रात चोरी के एक केस में छापामारी करने गए थे।

बंगाल के बनतापारा में हत्या
बिहार पुलिस की छापेमारी की सूचना पर बनतापारा में काफी संख्या में लोग इकट्ठा हो गए। किशनगंज पुलिस टीम को चारोंं तरफ से घेर लिया। फिर मॉब लिंचिंग जैसे घिनौने अपराध को भीड़ ने अंजाम दिया। आखिरकार अश्विनी कुमार की दुखद मौत हो गई।

पुलिस-प्रशासन में हड़कंप
किशनगंज के टाउन थानाध्यक्ष की बंगाल की सीमा में हत्या पर पुलिस-प्रशासन में हड़कंप मच गया। आनन-फानन में पुलिस की एक टीम मौके पर पहुंची। घटना की सूचना पर पूर्णिया रेंज के आईजी सुरेश चौधरी और एसपी कुमार आशीष मौके पर पहुंचे। टाउन थानाध्यक्ष के शव को पोस्टमार्टम के लिए इस्लामपुर अस्पताल भेजा गया।

पहले भी हो चुकी है हत्या
इससे पहले भी बिहार पुलिस के अधिकारियों की छापेमारी के दौरान हत्या हो चुकी है। 24 फरवरी को सीतामढ़ी में शराब तस्करों ने मेजरगंज के थानाध्यक्ष दिनेश राम की हत्या कर दी थी। सीतामढ़ी में शराब तस्करी होने और शराब की खेप उतरने की गुप्त सूचना पर मेजरगंज थानाध्यक्ष दिनेश राम दल-बल के साथ मौके पर पहुंचे थे। तभी अपराधियों से भिड़ंत हो गई। इस मामले में तीन नामजद और अन्य अज्ञात अपराधियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। इसमें रंजन सिंह, मुकुल सिंह, अभिषेक सिंह और अन्य अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज हुआ था।


Back to top button